संवाद सहयोगी, जमुई। फ्री फायर गेम के तहत छत्तीसगढ़ के नाबालिग से शादी रचाना जमुई के युवक को मंहगा पड़ा। चार दिन की चांदनी फिर अंधेरी रात, जैसी ही मुहावरा रविवार की देर शाम जमुई के रजानगर मुहल्ला निवासी दिनेश हरिजन के पुत्र चंदन कुमार पर चरितार्थ हो गई है।

दरअसल छत्तीसगढ़ की एक लड़की के साथ शादी रचाकर कुछ दिन ही दोनों ने एक-दूसरे के बीच खुशियां बांट सकी और फिर खुशी गम में तब्दील हो गई। दोनों को छत्तीसगढ़ की पुलिस ने जमुई पुलिस के सहयोग से रविवार को गिरफ्तार कर लिया।

छत्तीसगढ़ के पिथौरा थाना के एसआई कौशल साहू ने बताया कि नाबालिग के पिता ने पिथौरा थाना में कुछ दिन पूर्व नाबालिग के गुमशुदगी का मामला दर्ज कराया गया था। इस दौरान एक वायरल वीडियो से नाबालिग की पहचान हुई और पता लगाकर वे लोग जमुई पुलिस के सहयोग से नाबालिग को चंदन के घर से बरामद कर लिया और युवक को भी गिरफ्तार किया गया।

सर्किल इंस्पेक्टर सह टाउन थाना प्रभारी अखिलेश कुमार ने बताया कि दोनों को जमुई कोर्ट में पेश कर छत्तीसगढ़ पुलिस के हवाले किया जाएगा। छत्तीसगढ़ पुलिस के साथ नाबालिग के बरामदगी में एसआई राजेश कुमार और रविशंकर कुमार सहित महिला पुलिस शामिल थे।

बता दें कि नाबालिग छत्तीसगढ़ के महासमुन जिले के पिथौरा थाना क्षेत्र के एक गांव की रहने वाली है। जिसकी मुलाकात फ्री फायर गेम खेलने के दौरान तकरीबन एक वर्ष पहले चंदन कुमार से हुई थी।

इस दौरान दोनों में बातें होने लगी और गेम पर ही मोबाइल नंबर आदान-प्रदान हुआ और एक दूसरे से व्हाट्सएप और मोबाइल पर बातें होने लगी थी।

फिर दोनों का प्यार परवान चढ़ा और नाबालिग ने चंदन से शादी करने की ठान ली और 19 नवंबर को छत्तीसगढ़ से सीधा जमुई चंदन के पास पहुंच गई। फिर स्वजन द्वारा ही 25 नवंबर यानि गुरुवार की देर शाम पंचमंदिर में दोनों की धूम-धाम से शादी करवा दी गई थी।

Edited By: Dilip Kumar Shukla