आनलाइन डेस्क, भागलपुर। बिहार में धनवर्षा: ऐसा सोचते समय आपको आसमान से रुपये बरसते दिखाई दे रहें होंगे। कभी न कभी आपने भी विश किया होगा कि काश पैसों की बारिश हो जाए। लेकिन जरा सोचिए कि आप एटीएम या बैंक गए हो और अकाउंट में आपके इतने रुपये शो करने लगे कि आपकी रूह कांप उठे। बैंक कर्मी के होश उड़ जाएं। जी बिहार में इन दिनों कुछ ऐसा ही हो रहा है। बच्चों से लेकर बुजुर्ग तक के अकाउंट पर बड़ी रकम पहुंच जा रही है। आलम ये है कि लखपति बने खगड़िया के एक शख्स ने तो ये कहकर पैसे खर्च कर दिए कि उसे पीएम मोदी ने 5.50 लाख रुपये की रकम भेजी है। इसके बाद कटिहार के दो बच्चों के खातों में अरबों रुपये शो करने लगे। अब नया मामला मुजफ्फरपुर से सामने आया है।

कटिहार में बच्चों के खाते में दिखाई दे रही रकम को गिनने में भी एक दफा भूल हो सकती है। लोग इकाइ-दहाई-सैकड़ा-हजार-दस हजार-लाख-दस लाख-करोड़-दस करोड़ करते दिखाई दे रहे हैं। अलबत्ता बुधवार को सामने आई इस खबर के बाद तो संबंधित जगह के कई लोग अपना खाता चेक करने या तो बैंक पहुंच गए या एटीएम में लाइन लगाने। उन्हें ऐसा लगा कि शायद उनके अकाउंट पर भी धनवर्षा हो गई हो। कुछ तो ऐसा भी कहते सुनाई दिए कि काश हमारे अकाउंट पर भी लक्ष्मी की कृपा हो जाए, अरे बैंक वापस ले लेगा तो क्या। कम से कम लखपति या करोड़पति होने का दर्जा तो मिल जाएगा। इंटरनेट मीडिया पर तो खबरें पढ़ने के बाद लोगों ने अलग ही कसीदे लिख दिए। बात करें मुजफ्फरपुर की तो यहां से भी ऐसी खबर आई है कि एक बुजुर्ग के खाते में अचानक से 52 करोड़ रुपये शो करने लगे।

 

(एक बार रुपये गिन कर देखिए) 

नया मामला मुजफ्फरपुर के कटरा के राम बहादुर शाह से संबंधित है। उन्हें सीएसपी संचालक ने तब ऐसी जानकारी दी जब वे वृद्धा पेंशन की राशि चेक करवाने उसके पास पहुंचे। पता चला कि बचत खाते में 52 करोड़ रुपये शो हो रहा है। ये सुनते ही वे दौड़े-दौड़े अपने घर आए और सूख चुके हलक से सबको ये बात बताई। मामला जानते ही इलाके में अफरा-तफरी जैसा माहौल हो गया।

नंबर वन- खगड़िया में दास बन गए लखपति 

'पीएम मोदी ने भिजवाए हैं 5.50 लाख रुपये, नहीं करूंगा वापस।' बैंक के भेजे गए नोटिस के बाद खगड़िया के मानसी प्रखंड के बख्तियारपुर गांव के रहने वाले मानसी रंजीत दास ने पैसा वापस करने से मना कर दिया। अरे पैसा हो तब न दें, दरअसल इनके खाते में आए 5 लाख पचास हजार की रकम इन्होंने खर्च कर दी। बैंक को जब बाद में पता चला कि रकम इधर गलती से ट्रांसफर हो गई है फिर नोटिस भेजा गया। बहरहाल मामले में कार्रवाई जारी है। दास को पुलिस हिरासत में लिया गया है।

नंबर दो- कटिहार में एक बच्चा बना अरबपति, तो दूसरा करोड़पति

बात कटिहार की करें तो यहां के आजमनगर प्रखंड के बघौरा पंचायत अंतर्गत पस्तीय गांव के दो बच्चे गुरुचरण विश्वास और असीत कुमार अरबपति और करोड़पति बन गए। विश्वास के खाते में 9 अरब तो असीत के खाते में 6 करोड़ की राशि दिखाई देने लगी। दोनों सीएचपी अपने खातों में पोशाक योजना के तहत मिलने वाली राशि का पता लगाने गए थे, उसी दरम्यान संचालक ने देखा कि ये दोनों तो अरबपति और करोड़पति बन गए है और उसके होश उड़ गए। फिलहाल, सभी मामलों में प्रशासनिक कार्रवाई जारी है। 

Edited By: Shivam Bajpai