संवाद सूत्र, फलका (कटिहार)। बिहार के कटिहार में ग्रामीणों ने मक्‍का के खेत में प्रेमी प्रेमिका को देख लिया। दोनों आपत्तिजनक स्थिति में थे। दोनों नाबालिग है। ग्रामीणों ने पहले को दोनों को पकड़ कर पिटाई कर दी। इसके बाद दोनों की शादी करवा दी। इसी बीच में सरपंच ने आकर लड़की के मांग ने लगा सिंदूर को धोलवा दिया।  

कटिहार के फलका थाना क्षेत्र के एक गांव में नाबालिग जोड़े को आपत्तिजनक स्थिति में देख ग्रामीणों ने जमकर धुनाई कर दी। ग्रामीणों ने जबरन नाबालिग लड़का व लड़की की शादी भी करा दी। मक्का खेत में आपत्तिजक स्थिति में नाबालिग जोड़े को पकड़ ग्रामीणों ने पेड़ से बांध पिटाई कर दी। इस मामले को लेकर गांव में पंचायती भी हुई। पंचायत में तुगलगी फरमान जारी करते हुए नाबालिग की शादी करा दी गई।

जानकारी होते ही सरपंच चंदन मंडल व जिला परिषद प्रतिनिधि मनोज मौके पर पहुंच नाबालिग को ग्रामीणें के चंगुल से छुड़ाते हुए कहा कि नाबालिग की शादी कराना कानून जुर्म है। शादी नहीं कराई जा सकती। सरपंच की पहल पर नाबालिग लड़की के मांग से सिंदूर धोया गया। बाद में जुर्माना लगा मामले को रफा दफा किया गया। सरपंच के इस प्रयास की लोग तरह तरह से चर्चा कर रहे हैं। यह घटना पूरी तरह आग के रूप में फैल चुकी है। 

परवत्ता थाना की पुलिस ने शराब के नशा में तीन आरोपित को गिरफ्तार किया

नवगछिया के परवत्ता थाना की पुलिस ने शराब के नशा में तीन आरोपित को गिरफ्तार किया। आरोपित परवत्ता थाना के जगतपुर निवासी दीपक कुमार, संजीव कुमार, मिथलेश दास हैं। सभी आरोपित को पुलिस ने मेडिकल जांच के लिए अनुमंडल अस्पताल नवगछिया पहुंचाया। जिसमें तीनों के द्वारा शराब पीने की पुष्टी हुई। इस संबंध में परवत्ता थाना में बिहार मद्य निषेध अधिनियम के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई। पुलिस ने तीनों आरोपित जुर्माना वसूल करने के पश्चात छोड़ दिया। 

Edited By: Dilip Kumar Shukla

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट