Move to Jagran APP

Bihar Board 12th 2023 Result: भागलपुर में लगातार दूसरे साल भी बेटियों का जलवा, राज्य टॉप टेन में नहीं मिली जगह

बिहार के भागलपुर में कला और वाणिज्य संकाय के टॉपरों की सूची में लड़कियों की मजबूत उपस्थिति दर्ज हुई है। वहीं विज्ञान संकाय में लड़कों ने मारी बाजी है। साल 2022 की तुलना में साल 2023 में परीक्षार्थियों की संख्या घट गई है।

By Prashant KumarEdited By: Yogesh SahuPublished: Wed, 22 Mar 2023 04:12 PM (IST)Updated: Wed, 22 Mar 2023 04:12 PM (IST)
लगातार दूसरे वर्ष भी भागलपुर की बेटियों का रहा जलवा

जागरण संवाददाता, भागलपुर। बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने मंगलवार को इंटरमीडिएट का परीक्षा परिणाम जारी कर दिया।

इंटर परीक्षा परिणाम में लगातार दूसरी बार भागलपुर की बेटियों का जलवा रहा। कला, और वाणिज्य संकाय के जिला टॉपर की सूची में बेटियों ने अपनी मजबूत उपस्थिति दर्ज कराई।

मारवाड़ी कॉलेज की छात्रा शाहनाज परवीन और संत माइकल बालिका प्लस टू हाइ स्कूल गोखला मिर्जाचौकी की काजल कुमारी 460 अंक प्राप्त कर संयुक्त रूप से पहले स्थान पर रहीं।

दूसरे स्थान पर एसएसवी कॉलेज कहलगांव के सूरज कुमार शर्मा और बीएस कॉलेज शाहकुंड के प्रियांशु कुमार तीसरे स्थान पर रहे।

वहीं, वाणिज्य संकाय के टॉप तीन स्थान पर बेटियों का कब्जा रहा। मारवाड़ी कॉलेज की कृति राज पहले, एसएम कॉलेज भागलपुर की कुमकुम कुमारी दूसरे और मारवाड़ी कॉलेज की अर्पणा झा तीसरे स्थान पर रहीं।

हालांकि, विज्ञान संकाय में लड़कों ने बाजी मारी। विज्ञान संकाय में टॉप तीन में जगह बनाने में लड़कियों को सफलता नहीं मिली। टॉप तीन में पांच लड़कों ने जगह बनाई।

2022 में भी बेटियां ही रहीं टॉपर 

इंटर की परीक्षा में बीते वर्ष भी बेटियों का जलवा रहा था। 2022 में कला संकाय में पूर्णिमा कुमारी, कॉमर्स में ऐश्वर्या सोनी और विज्ञान में सुरभि जिला टॉपर रही थीं।

विज्ञान में टीएनबी कॉलेज के सूर्यांशू कुमार को भी जिला टॉपर की सूची में जगह मिली थी।

कम हो गई परीक्षार्थियों की संख्या

2022 की तुलना में वर्ष 2023 में जिले में इंटर परीक्षार्थियों की संख्या कम हो गई। 2022 में 45 हजार 16 परीक्षार्थियों ने इंटर की परीक्षा दी थी।

2023 में 41 हजार 936 परीक्षार्थियों ने ही परीक्षा में भाग लिया। परीक्षार्थियों की संख्या में तीन हजार 80 की कमी आई।

लगातार दूसरे वर्ष भागलपुर जिला के किसी परीक्षार्थी को राज्य स्तर पर टॉप टेन में जगह नहीं मिली। बीते वर्ष टॉप टेन में जिले के एक भी परीक्षार्थी के शामिल नहीं होने पर जिला शिक्षा पदाधिकारी संजय कुमार ने इंटर और मैट्रिक के छात्रों के लिए स्पेशल क्लास संचालित करने की बात कही थी, लेकिन यह घोषणा धरातल पर नहीं उतर सकी।

किसान की बेटी काजल बनी भागलपुर की टॉपर, बनना चाहती है आइएएस

मेहनत करने वाले कभी असफल नहीं होते। यह बात संत माइकल बालिका इंटर स्तरीय विद्यालय गोखला मिशन की काजल कुमारी ने कला संकाय में 92 प्रतिशत अंक लाकर साबित कर दी।

काजल ने जिले में टॉप किया है। काजल के पिता संजय गुप्ता किसान हैं। काजल ने बताया कि उसकी दसवीं तक की शिक्षा उत्क्रमित उच्च विद्यालय मिर्जाचौकी से हुई है।

उसने बताया कि उसके घर से विद्यालय करीब चार किलोमीटर दूर है। प्रतिदिन ऑटो से विद्यालय पढ़ाई करने जाती थी और उसने कभी भी क्लास मिस नहीं की।

काजल ने सफलता का श्रेय मां गुड्डी देवी, पिता संजय गुप्ता, दोनों भाई के साथ-साथ गुरुजनों को दिया है। काजल आइएएस बनना चाहती हैं।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.