संसू, कहलगांव। कहलगांव प्रखंड की 28 पंचायतों में बुधवार को कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच मतदान हुआ। इस तरह पंचायत चुनाव में 3769 प्रत्याशियों के भाग्य ईवीएम एवं मतपेटियों में बंद हो गए। इस बार 68 प्रतिशत मतदान हुआ है। बोरहिया और नयानगर रानीदियारा में देर शाम तक मतदान जारी था। मतदान के बाद सील ईवीएम एवं मतपेटियों को सबौर कृषि विश्वविद्यालय में बने वज्रगृह में जमा किया गया। चुनाव परिणाम 10 दिसंबर को आएगा। प्रशासन ने शांतिपूर्ण मतदान संपन्न होने पर राहत की सांस ली है।

पंचायत चुनाव के दौरान कुछ जगहों पर प्रत्याशी समर्थकों के बीच मामूली झड़प हुई, जिसे ग्रामीणों के प्रयास से शांत करा दिया गया। सुबह मतदान शुरू होते ही लोगों की कतार लगनी शुरू हो गई थी। त्रिमोहन स्कूल स्थित सभी मतदान केंद्रों पर सुबह से ही लंबी कतारें लगनी शुरू हो गई थीं। मतदान केंद्र 86 पर वार्ड सदस्यों के लिए रखा गया ईवीएम करीब एक घंटे तक खराब पड़ा रहा।

रसलपुर एवं बालिका उच्च विद्यालय मतदान केंद्र पर भी करीब आधा घंटा तक पंचायत समिति सदस्य के मतदान के लिए रखा गया ईवीएम खराब रहा। हरिजन टोला सामुदायिक भवन धनोरो मतदान केंद्र पर ईवीएम का बीयू, सीयूबी बदला गया। मुस्लिम टोला धनोरा में भी सीयूबी बदला गया, तब मतदान शुरू हुआ। पकड़तल्ला मतदान केंद्र पर ओटीपी थंब इंप्रेशन कुछ देर के लिए काम नहीं कर रहा था, इसके चलते कुछ समय तक मतदान रुका रहा। मतदान की रफ्तार काफी धीमी थी।

मतदाता लाइन में खड़े होकर घंटों इंतजार कर रहे थे तब पारी आ रही थी। लंबी लाइन देख मतदाता वापस घर भी लौट जा रहे थे। नयानगर रानीदियारा मध्य विद्यालय मतदान केंद्र संख्या 259 में कमरे में अंधेरा रहने के चलते मतदाताओं को ईवीएम में चुनाव चिन्ह का बटन दबाने एवं मतपत्र पर मुहर लगाने में काफी परेशानी हुई। यहां मतदान काफी धीमी गति से हो रहा था।

मतदाताओं की लंबी लाइन शाम तक लगी हुई थी। बोरहिया स्कूल के मतदान केंद्र 262 पर पर्ची मिलान थंस और फोटो लेने में काफी विलंब किया जा रहा था। वहां महिलाओं और पुरुषों की लंबी कतारें लगी हुई थीं। धीमा मतदान को लेकर मतदाता नाराज और आक्रोशित भी हुए। वहीं, मथुरापुर पंचायत के खजुरिया मतदान केंद्र पर कुछ मतदाताओं के बेवजह उछल-कूद करने एवं कतार तोडऩे पर पुलिस को लाठियां भांजनी पड़ी। प्रशासन की ओर से शांतिपूर्ण निष्पक्ष मतदान के लिए सभी मतदान केंद्रों पर बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किए गए थे। जिलाधिकारी, एसएसपी, एसडीओ, एसडीपीओ मतदान केंद्रों पर घूम-घूमकर स्थिति का जायजा ले रहे थे।  

Edited By: Abhishek Kumar