संवाद सहयोगी, भागलपुर। दैनिक जागरण की ओर से सोमवार को सर्वधर्म प्रार्थना सभा का आयोजन किया गया। सोमवार की सुबह घड़ी में 11 बजते ही बिहार कृषि विवि के सभी कर्मी और अधिकारी एक साथ हाथ जोड़कर खड़ा हो गए। मौका था कोरोना से मौत के शिकार हुए लोगों को श्रद्धांजलि देने का। साथ ही पीडि़तों को सबल प्रदान व कोरोना योद्धाओं को सम्मान में सरकारी कार्यालय से लेकर प्राइवेट एवं विभिन्न संगठनों के लोगों व अधिकारी-कर्मचारी हों या फिर घरों में बैठे बच्चे, बुजुर्ग व जवान , महिला हो या पुरुष, अस्पताल के चिकित्सक हो या मरीज, शिक्षक हों या विद्यार्थी, संत हों या अनुयायी, अधिवक्ता , जनता हो या जनप्रतिनिधि, व्यवसायी सब प्रार्थना में जुटे नजर आए।

मुख्‍यालय से बाहर रहने के कारण कुलपति नहींं हो सके शामिल 

मुख्यालय से बाहर रहने के कारण कुलपति डॉ. आरके सोहाने कार्यक्रम में भाग नहीं ले सके। उनके निर्देशन में डीन एजी डॉ.आरआर सिंह के नेतृत्व में मुख्यालय के अधिकारी कर्मी साथ ही कृषि महाविद्यालय के कर्मियों ने श्रद्धांजलि दी। मौके पर योजना निदेशक डॉ अरुण कुमार, डीएसडब्ल्यू डॉ.राजेश कुमार, पी आर ओ डॉ. रणधीर कुमार, प्राचार्य डॉ आरपी शर्मा, रजिस्ट्रार डॉ. एम हक, फिजा अहमद, संजय मिश्रा, कमल जी, विज्ञानी रफत सुल्ताना आदि उपस्थित थे। उधर कृषि विज्ञान केंद्र सबौर में भी इंचार्ज डॉ. विनोद कुमार के नेतृत्व में सभी कॢमयों ने मिलकर प्रार्थना सभा का आयोजन किया। सभी ने दैनिक जागरण द्वारा कराया गया इस नेक काम के लिए धन्यवाद दिया।

बीएयू की सभी इकाईयों में लोगों ने दी श्रद्धांजलि

मुख्यालय के अतिरिक्त पूॢणया, बक्सर ,पटना, नालंदा गया , बांका, लखीसराय, मुंगेर, कटिहार, औरंगाबाद जहानाबाद ,कैमूर ,रोहतास, खगरिया सहित 25 जिला में बीएयू का कृषि विज्ञान केंद्र, कॉलेज, रिसर्च स्टेशन फैला हुआ है। मुख्यालय के निर्देश के आलोक में सभी केंद्रों में प्रार्थना सभा का आयोजन किया गया। सभी कर्मियों ने श्रदांजलि दी। 

 

11 बजे दिन होते ही ठहर गया शहर

घड़ी की सुई 11 पर पहुंचते ही शहर और आसपास ठहर गया जो जहां जैसे थे वहीं खड़े हो गए और मौन रहकर श्रद्धांजलि दी। इसी कड़ी में सबौर सीओ विक्रम भास्कर, बीडीओ प्रतीकराज , जीरोमाइल थानेदार राज कुमार प्रसाद , सबौर थानेदार सुनील कुमार झा , प्रमुख अभय कुमार, जेपी रत्ना पेट्रोल पंप मालिक जयप्रकाश मंडल आदि श्रद्धांजलि दिया। उधर गांधी शांति प्रतिष्ठान जैसे कई स्वयंसेवी संस्थाओं ने इस कार्यक्रम में सहभागिता निभाई।

 

Edited By: Abhishek Kumar