Move to Jagran APP

भागलपुर में हनुमान जी की हो रही पूजा, साथ ही नमाज भी, तनाव जारी

भागलपुर में कल शुरू हुए सांप्रदायिक तनाव की चिंगारी आज भी सुलग रही हैं। जहां आज एक ही जगह हनुमानजी की भी पूजा हुई तो वहीं पहली बार विवादित जगह पर नमाज भी अदा की गई।

By Kajal KumariEdited By: Published: Fri, 27 Jan 2017 02:58 PM (IST)Updated: Fri, 27 Jan 2017 09:41 PM (IST)
भागलपुर में हनुमान जी की हो रही पूजा, साथ ही नमाज भी, तनाव जारी

भागलपुर [जेएनएन]। हबीबपुर थाना क्षेत्र के अम्बे पोखर में कल मचे सांप्रदायिक हंगामे के बाद आज हनुमान जी की पूजा हो रही है। वहीं विवादित जगह पर पहली बार नमाज भी हो रही है। विवादित स्थल पर चार सीसीटीवी कैमरे से निगरानी हो रही है। मौके पर अभी भी तनाव कायम है।

पुलिस की निगरानी में एक ही जगह बजरंगबली की पूजा और नमाज साथ हो रही है। मामले में अभी एफआईआर दर्ज नही हुई है। वहीं मारूफ़चक के शिव मंदिर में हिंदू महासभा की बैठक भी हो रही है। कल भागलपुर बंद की संभावना है।

कल हबीबपुर थाना क्षेत्र के आंबे पोखर इलाके में गुरुवार को अचानक हनुमान मंदिर तोड़ने की अफवाह फ़ैल गयी। देखते ही देखते दोपहर 12 बजे तक इलाके के सैकड़ों लोग आंबे पोखर के आसपास जुट गए। इस बात की सूचना मिलते ही हबीबपुर थाना इंस्पेक्टर इंद्रजीत बैठा व जगदीशपुर अंचलाधिकारी निरंजन कुमार अपनी टीम के साथ मौके पर पहुँच गए।

स्थानीय लोगों के मुताबिक गुरुवार सुबह अंबे पोखर के बीचों बीच बने टापू पर हनुमान मंदिर में 50 साल पुरानी बजरंगबली की खंडित मूर्ति को हटाकर नए मूर्ति की स्थापना की जा रही थी। इसी बीच वहां मौजूद दूसरे पक्ष के लोगों ने इसका विरोध किया। जिसके बाद दूसरे पक्ष के लोगो द्वारा मंदिर तोड़े जाने की अफवाह फैल गयी और लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा।

मौके पर पहुंचे सीओ ने सदर एसडीओ घटनास्थल पर बढ़ रहे तनाव की सुचना दी और मामले को शांत करने के लिए ज्यादा पुलिस बल की मांग की । देखते ही देखते मौके पर मोजाहिदपुर, तातारपुर, कजरैली, विश्वविद्यालय, ललमटिया, इशाकचक, आदमपुर समेत सभी थानों की पुलिस मौके पर पहंचने लगी। वहीँ सादर एसडीओ कुमार अनुज और सिटी डीएसपी सहरियार अख्तर ने मोर्चा संभाला।

नौ साल की बेटी ने दुल्हन से हाथ जोड़कर कहा, मत करो मेरे पापा से शादी

सदर एसडीओ ने माइकिंग कर लोगों को सय्यम बरतने की चेतावनी दी। उन्होंने सुप्रीम कोर्ट के आदेश का हवाला देते हुए कहा कि यह मंदिर बिहार सरकार की जमीन पर अवैध तरीके से बनायी गयी है और इसे हटाकर बूढ़ानाथ मंदिर में स्थापित किया जायेगा। जिसके बाद सैंकड़ों लोग और उग्र हो गए और जय श्री राम , जय बजरंगबली के नारे लगाने लगे। मंदिर समर्थकों ने जिला प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी शुरू कर दी।

International swimmer को गर्लफ्रेंड ने दी प्यार करने की एेसी खौफनाक सजा

इलाके में अंबे पोखर की तरफ और पोखर के पार एतवारी हाट और कोयरी टोला में लोगों का हुजूम बढ़ता चला गया साथ ही नारेबाजी भी तेज होती चली गयी। इतने में सदर एसडीओ ने पुलिस कर्मियों के साथ मिलकर मंदिर में स्थापित नयी और पुरानी मूर्ति को उठवाकर अंचलाधिकारी के गाडी में रखवा दिया।

इतने में लोगों का गुस्सा फुट पड़ा और मंदिर समर्थकों ने पुलिस और प्रशासन पर पत्थरों से हमला बोल दिया। जिसके बाद सभी प्रशासनिक और पुलिस की गाड़ियां मूर्ति को लेकर करोड़ी बाजार की तरफ निकल गयी।

लोगों को शांत कराने के लिए पुलिस की ओर से करीब एक घंटे तक 50 राउंड हवाई फायरिंग की गयी। फिर भी लोगों का गुस्सा शांत नहीं हुआ और मंदिर समर्थकों ने तीनों तरफ से पत्थरबाजी जारी रखी। जिसमे एसडीओ समेत कई पुलिस कर्मी और पत्रकार घायल हो गए।

उग्र समर्थक लोगों ने एसडीओ, सीओ और सिटी डीएसपी के गाडी के सीसे तोड़ दिए। और जबरन गाडी पर रखे बजरंबली की दोनों मूर्तियों को पुनः मंदिर में स्थापित कर दिया।

घटना की सूचना मिलते ही मौके पर एसएसपी, डीएम, समेत कई प्रशासनिक पदाधिकारियों और कारीब 200 पुलिस लाइन के जवान मौके पर पहुच गए। और मामले को शांत करवाया।

बाल्टी कारखाना के पास लोगो ने किया सड़क जाम

गुस्साए लोगो ने पुलिस द्वारा मामले को शांत कराये जाने के बाद मंदिर नहीं हटाने की मांग को लेकर अलीगंज रोड पर बाल्टी कारखाना के पास करीब 2 घंटे तक आगजनी कर सड़क जाम कर दिया। और प्रशासन के विरोध में जमकर नारे लगाये।

देर शाम मंदिर नहीं हटाये जाने के निर्णय के बाद लोगो ने जाम ख़त्म कर दिया। और प्रशासन के विरोध में जमकर नारे लगाये। देर शाम मंदिर नहीं हटाये जाने के निर्णय के बाद लोगो ने जाम ख़त्म कर दिया।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.