बेगूसराय : सिमरिया गंगा नदी का मुख्य स्नान घाट खतरनाक हो गया है। यहां स्नान करने आने वाले श्रद्धालुओं को परेशानी हो रही है। गंगा नदी के तट पर कटाव होने के बाद डीएम के निर्देश पर बाढ़ नियंत्रण विभाग ने कटाव निरोधी कार्य किया है। मुख्य स्नान घाट पर 222 मीटर लंबा कटाव निरोधी कार्य साढ़े चार करोड़ की लागत से कराया जा रहा है। इसमें गैबियन में जीओ एवं सीमेंट बैग में मिट्टी और बालू भरकर लगाया जा रहा है, ताकि कटाव को रोका जा सके। इस दौरान मुख्य स्नान घाट पर जीओ बैग की बोरी की ऊंचाई दो से ढाई फीट कर दी गई है। इससे वृद्ध महिला, पुरुष एवं बच्चों को स्नान करने के दौरान जाने और आने में परेशानी हो रही है। कार्यरत कंपनी के साइड इंचार्ज संजीत कुमार ने बताया कि हम यहां कटाव निरोधी कार्य करने आए हैं ना कि सीढ़ी का कार्य करने। विभाग के द्वारा जो निर्देश मिलेगा वह काम कराया जाएगा।

इस संबंध में सदर एसडीओ संजीव कुमार चौधरी ने बताया कि बाढ़ नियंत्रण विभाग के अधिकारी को कहा गया है कि जीओ बैग की ऊंचाई को कम करें ताकि लोगों को स्नान करने के लिए जाने आने में परेशानी नहीं हो। वही बाढ़ नियंत्रण विभाग के एसडीओ पंकज कुमार ने बताया कि विभाग के द्वारा कटाव निरोधी कार्य किए जा रहे हैं। सिमरिया गंगा नदी के स्नान घाट पर आरसीसी सीढ़ी निर्माण कार्य सहित अन्य कार्य के लिए स्टीमेट पटना कार्यालय भेजा गया है। अब तक स्वीकृत नहीं किया गया है।

Edited By: Jagran