औरंगाबाद। अनुमंडल पदाधिकारी सह देव सूर्य मंदिर न्यास समिति के अध्यक्ष सुरेंद्र प्रसाद ने स्थानांतरण के पश्चात शनिवार को देव सूर्य मंदिर में सपरिवार दर्शन किया। न्यास समिति के द्वारा अध्यक्ष को विदाई दी गई। समिति के सचिव कृष्णा चौधरी, कोषाध्यक्ष रामचंद्र चौरसिया, सदस्य भूपेश यादव ने सूर्य मंदिर का प्रतीक चिन्ह भेंट किया। सभी ने एसडीएम को अंगवस्त्र एवं अन्य उपहार देकर सम्मानित किया। एसडीओ ने कहा कि भगवान सूर्य के प्रति मेरी आस्था कई गुना बढ़ गई है। औरंगाबाद में तीन साल के कार्यकाल में मेरे ऊपर कोई दाग एवं कलंक नहीं लगा। यह सूर्य देव की कृपा है। सूर्य मंदिर न्यास समिति के ऊपर भी भ्रष्टाचार का कीचड़ उछालने का प्रयास हुआ। बावजूद इसके समिति हर स्तर के जांच में बेदाग साबित हुआ। इसका सारा श्रेय स्थानीय सदस्यों की ईमानदारी को जाता है। देव में न्यास समिति के द्वारा लगभग एक करोड़ की लागत से बना धर्मशाला देव के लिए बड़ी उपलब्धि बन गया है। सूर्य भगवान से कामना करता रहूंगा की न्यास समिति भविष्य में भी इसी प्रकार कार्य योजना बनाकर कार्य करे। पुजारी सचिदानंद पाठक, वर्षानंद पाठक, राजदेव भगत, धर्मदेव यादव मौजूद थे।

Posted By: Jagran