औरंगाबाद [जेएनएन]। शहर में सोमवार को रामनवमी जुलूस के दौरान माहौल बिगाडऩे के प्रयास में लगे लोगों पर प्रशासन ने सख्ती की जिससे हालात सामान्य हो गए। जिलाधिकारी राहुल रंजन महिवाल ने बताया कि एहतियातन शहर में धारा 144 लागू कर दी गई है। दोषियों को चिन्हित किया जा रहा है। इस मामले में 50 से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इस बीच पुलिस मंगलवार को भी सतर्क है।
सद्भाव बिगाड़ने की कोशिश
रामनवमी जुलूस निकलने पर उपद्रवियों ने सद्भाव बिगाडऩे का प्रयास किया था जिसमें कुछ लोग घायल भी हो गए थे। आगजनी कर कुछ दुकानों को नुकसान पहुंचाया गया, लेकिन मुस्तैद प्रशासन ने तुरंत हालात पर नियंत्रण करने के साथ घायल मो. नईम, विक्की ठाकुर, बब्लू कुमार, धर्मेंद्र कुमार सिंह आदि का इलाज सदर अस्पताल में कराया। बाद में इनकी स्थिति गंभीर देख चिकित्सकों ने सभी को बेहतर इलाज के लिए बाहर भेज दिया।

स्थिति पर किया नियंत्रण
उपद्रवियों ने पुरानी जीटी रोड, महाराजगंज रोड, टिकरी मोहल्ला, सराय रोड, गंज मोहल्ला, सिन्हा सोशल क्लब, कर्मा मोड़ के पास माहौल को बिगाडऩे की कोशिश की थी, लेकिन पुलिस ने इन्हें खदेड़कर  स्थिति पर नियंत्रण कर लिया। हालात पर काबू के लिए डीएम के साथ एसपी डा. सत्यप्रकाश, एडीएम रामअनुग्रह सिंह, जिला लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी गजेंद्र मिश्रा लगे रहे।

शहर में पुलिस गश्त तेज कर दी गई है। डीएम ने बताया कि दूसरे जिले से फोर्स मंगाई गई है। शहर के हर मोहल्ले में पुलिस बल की तैनाती की गई है। एहतियातन इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है। मगध आयुक्त जीतेंद्र श्रीवास्तव एवं डीआइजी विनय कुमार औरंगाबाद में कैंप कर रहे हैं। गया, अरवल, कैमूर एवं रोहतास से पुलिस बल मंगाया गया है। सभी जगहों पर पुलिस की तैनाती की गई है।

Edited By: Kajal Kumari