Move to Jagran APP

VIDEO: प्यार करने का हक इन्हें नहीं ...पता चली बात तो सरपंच ने सरेआम दी ऐसी सजा

बिहार के अररिया जिले में एक विधवा महिला और एक अधेड़ को रस्सी से बांधकर इसलिए सरेआम पीटा गया क्योंकि वो एक-दूसरे से प्यार करते थे। उनपर सरपंच ने 50000 का जुर्माना भी लगाया।

By Kajal KumariEdited By: Published: Sat, 21 Sep 2019 03:13 PM (IST)Updated: Mon, 23 Sep 2019 11:13 PM (IST)
VIDEO: प्यार करने का हक इन्हें नहीं ...पता चली बात तो सरपंच ने सरेआम दी ऐसी सजा

अररिया, जेएनएन। गांव की एक विधवा महिला और एक अधेड़ व्यक्ति पर लोगों का गुस्सा फूट पड़ा और भरी पंचायत में दोनों की सरेआम जमकर पिटाई की गई और सरपंच ने जुल्म ढाते हुए दोनों पर 50000 रुपये का जुर्माना लगाया है। दोनों का कसूर ये था कि दोनों एक-दूसरे स् प्यार करते थे। 

loksabha election banner

इस घटना का वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें साफ देखा जा सकता है कि किस तरह से कानून को सरपंच ने अपने हाथ में ले रखा है और डंडे से अपने हाथ से एक अधेड़ और विधवा की  भीड़ के सामने हाथ बांधकर जबर्दस्त पिटायी कर रहा है। पिटायी के बाद दोनों पर 50000 रुपये का जुर्माना भी किया गया है ।

घटना अररिया जिले के बौंसी थाना क्षेत्र के फ़रकिया गांव की है, जहां महिला की तरफ से मामला दर्ज कराया गया है जिसमें 16 लोगों को अभियुक्त बनाया गया है। लोगों ने बताया कि गांव की एक विधवा महिला का एक मुस्लिम व्यक्ति के साथ काफी दिनों से प्रेम प्रसंग चल रहा था।

इस बात की जानकारी ग्रामीणों को लगी तो सरपंच ने पंचायत बैठाकर भरी पंचायत के सामने दोनों के हाथ बांधकर जमकर लाठी से पिटाई की। इस घटना को वहां मौजूद किसी ने मोबाइल में कैद कर लिया। 

जानकारी के अनुसार इन लोगों को 50000 जुर्माना भी लगाया गया और जबरदस्ती शादी करा कर गांव से बाहर कर दिया गया है। इस मामले को लेकर  विधवा महिला के पिता ने बौसी थाने में मामला दर्ज कराया है जिसमें 16 लोगों को अभियुक्त बनाकर सरपंच को भी उसमें शामिल किया गया है ।

एसडीओ कुमार देवेंद्र सिंह ने बताया कि  मामले को दर्ज कर लिया गया है और सरपंच के गिरफ्तारी के लिए लगातार छापेमारी की जा रही है ।


Jagran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरेंWhatsApp चैनल से जुड़ें
This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.