नई दिल्ली, ऑटो डेस्क। Vikram Kirloskar Death: टोयोटा किर्लोस्कर प्राइवेट लिमिटेड के वाइस चेयरमैन विक्रम किर्लोस्कर का 64 वर्ष की आयु में निधन हो गया, जिसके बाद से ऑटो इंडस्ट्री में शोक की लहर है। विक्रम किर्लोस्कर ऑटो इंडस्ट्री में सबसे अनुभवी उद्यमियों में से एक थे। एक दौर था, जब भारत में टोयोटा की गाड़ियों का बुरा हाल था, लेकिन जब से टोयोटा फॉर्च्यूनर और टोयोटा इनोवा ने कदम रखा तब से टोयोटा की गाड़ियों को देश में प्यार मिलने लगा। इसके पीछे विक्रम किर्लोस्कर का सबसे बड़ा हाथ था।

कौन हैं विक्रम एस किर्लोस्कर

विक्रम एस किर्लोस्कर ने अमेरिका में मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (एमआईटी) से इंजीनियरिंग की थी। जिसके बाद से उन्होंने 1990 के दशक के अंत में जापान की टोयोटा मोटर कॉर्प को भारत लाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। उन्होंने कई सालों तक भारत में SIAM, CII और ARAI जैसे कंपनियों में कई महत्वपूर्ण पदों पर काम किया है। विक्रम एस किर्लोस्कर अपनी पत्नी गीतांजली किर्लोस्कर और बेटी मांसी किर्लोस्कर के साथ रहते थे।

इनोवा क्रिस्टा और टोयोटा फॉर्च्यूनर से फेमस हुई कंपनी

इनोवा और फॉर्च्यूनर को भारत में लाने का सबसे बड़ा हाथ विक्रम एस किर्लोस्कर का था। हालांकि, उस समय ब्रांड के पास अन्य कई मॉडल्स थे, जिसमें Toyota Etios, Etios Liva और Yaris जैसे मॉडल्स को उतना अच्छा रिस्पॉन्स नहीं मिल रहा था, क्योंकि अधिक कीमत होने के कारण लोग खरीदने से कतराते थे। विक्रम एस किर्लोस्कर का भारत के लिए आखिरी प्रोडक्ट टोयोटा इनोवा हाइक्रॉस है। इस मॉडल को 25 नवंबर को भारत में पेश किया गया है। हाइब्रिड पॉवरट्रेन से लैस इस गाड़ी की चर्चा इस समय ऑटो इंडस्ट्री में जोरो से है।

यह भी पढ़ें

Golden Era Of Cars: सफेद कार और लाल बत्ती... वो 'सरकारी गाड़ी' जिसने सड़कों पर ही नहीं, दिलों पर भी किया था राज

Ather 450X Gen 3 Review: पहले से कितना बदल गई है एथर इलेक्ट्रिक स्कूटर? रिव्यू में समझें

Edited By: Atul Yadav

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट