नई दिल्ली, ऑटो डेस्क। Tata Nano क्या भारत में अपनी आखिरी सांसे ले रही है? यह सवाल इसलिए क्योंकि पिछले 9 महीनों में Tata Motors ने Nano के एक भी यूनिट का प्रोडक्शन नहीं किया है। यानी पिछले 9 महीनों में कंपनी की यूनिट में एक भी Tata Nano नहीं बनी है। वहीं, अगर बिक्री की बात करें तो इस दौरान केवल फरवरी महीने में इसकी एक यूनिट की बिक्री हुई थी। हालांकि, इसे बंद कर दिया गया है ऐसा कंपनी की तरफ से कोई भी आधिकारिक बयान नहीं आया है, लेकिन इसकी बिक्री और प्रोडक्शन को देखते हुए यह अंदाज लगाया जा सकता है कि कभी Ratan Tata की ड्रीम कार रही Tata Nano अब भारत में अपने आखिरी दौर में है।

Tata Motors ने अपनी Tata Nano को पहली बार जनवरी 2008 में Auto Expo में पेश किया था। इसके बाद यह कार भारतीय बाजार में मार्च 2009 में लॉन्च हुई थी। कंपनी की तरफ से उस समय घोषणा की गई थी कि इसके बेस मॉडल की कीमत 1 लाख रुपये होगी। इसके बाद Tata Nano को लखटकिया कार का नाम दिया गया था।

क्या अप्रैल 2020 से पहले बंद हो जाएगी Tata Nano?

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो Tata Motors अपनी Tata Nano को अप्रैल 2020 तक बंद कर सकती है। दरअसल BS-6 नॉर्म्स और नए सेफ्टी नियमों को देखते यह उम्मीद लगाई जा रही है कि कंपनी इसे बंद कर सकती है।

Tata Nano की स्पेसिफिकेशन्स

Tata Nano में पावर के लिए 624 सीसी, 2-सिलिंडर गैसोलीन, MPFI इंजन दिया गया है। इसका पेट्रोल वेरिएंट 5500 आरपीएम पर 38 PS की मैक्सिमम पावर और 4000 आरपीएम पर 51 Nm का पीक टॉर्क जनरेट करता है। वहीं, CNG वेरिएंट 33 bhp की मैक्सिमम पावर और 45 Nm का पीक टॉर्क जनरेट करता है। इसका इंजन 5-स्पीड गियरबॉक्स से लैस है। इसमें में 105 किलोमीटर प्रति घंटे की टॉप स्पीड मिलती है। Nano GenX वेरियंट की लंबाई 3164 मिलीमीटर, चौड़ाई 1750 मिलीमीटर और ऊंचाई 1652 मिलीमीटर है।

 

Posted By: Shridhar Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप