नई दिल्ली, ऑटो डेस्क। जिस त्योहारी मौसम का इंतजार देश की ऑटोमोबाइल कंपनियों को था उसका बड़ा हिस्सा अक्टूबर, 2019 में बीत गया। इस महीने वाहनों की बिक्री में पहले से तो सुधार दिखा लेकिन अभी जो संकेत मिल रहे हैं उससे यह भरोसा नहीं बन पा रहा है कि ऑटोमोबाइल बाजार की मंदी पूरी तरह खत्म हो गई है। ऑटोमोबाइल कंपनियों के सबसे बड़े संगठन सियाम की तरफ से सोमवार को वाहन बिक्री के जो आंकड़े जारी किए गए हैं, उनके मुताबिक 11 महीनों से वाहन बिक्री में गिरावट का सिलसिला अब थम गया है।

अक्टूबर, 2019 में पैसेंजर वाहनों की बिक्री में 0.28 फीसद का इजाफा हुआ है। हालांकि सभी वाहनों को मिलाकर देखा जाए तो इस महीने कुल बिक्री में 12.76 फीसद की गिरावट हुई है। यही वजह है कि पैसेंजर वाहनों की बिक्री में आगे भी कुछ इजाफा होने की गुंजाइश के बावजूद समूचे ऑटोमोबाइल उद्योग के लिए बहुत सकारात्मक संकेत नहीं मिल रहे हैं।

अक्टूबर में कुल 21,76,136 वाहनों की बिक्री हुई, जबकि अक्टूबर 2018 में 24,94,345 वाहनों की बिक्री की गई थी। गिरावट की दर भी पहले से कम हुई है। मसलन, सितंबर के महीने में वाहनों की बिक्री में गिरावट 22.41 फीसद रही, जो अगस्त में 23.55 फीसद रही थी। यह गिरावट जुलाई में 18.71 फीसद, जून में 12.34 फीसद, मई में 8.62 फीसद रही थी। सियाम के अध्यक्ष रंजन वाढरा के मुताबिक, "त्योहारी सीजन में पैसेंजर कारों की बिक्री पिछले साल से अच्छी रही है जो एक शुभ संकेत है। ऐसा लग रहा है कि ग्राहक शोरूम में लौटने लगे हैं। नवंबर-दिसंबर में भी बिक्री सुधर सकती है।"

अगर समूचे ऑटोमोबाइल उद्योग की बात करें तो नवंबर के बारे में तमाम कंपनियों की तरफ से यह सूचना आ रही है कि वह इस महीने भी उत्पादन में कटौती करेंगी। अक्टूबर में ऑटोमोबाइल कंपनियों ने उत्पादन काफी कम किया था। इस दौरान गाड़ियों का उत्पादन 26.22 फीसद कम रहा था। पैसेंजर कारों के उत्पादन में 21.14 फीसद, वाणिज्यिक वाहनों के उत्पादन में 45.48 फीसद, तिपहिया वाहनों के उत्पादन में 16.59 फीसद और दोपहिया उत्पादन में 26.57 फीसद की गिरावट रही है। यह गिरावट अक्टूबर, 2018 के मुकाबले बताई गई है। नवंबर 2019 के दौरान भी सभी वाहनों के उत्पादन में 15 से 20 फीसद की गिरावट का अनुमान है। 

Posted By: Ankit Dubey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप