नई दिल्ली, ऑटो डेस्क। मारुति सुजुकी की गाड़ियां देश में सबसे अधिक बिकती हैं। यही वजह है कि कंपनी के ऊपर प्रोडक्शन को लेकर थोड़ा प्रेशर रहता है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार मारुति ने अभी हाल ही में कहा था कि दिसंबर महीने में उनके प्रोडक्शन में थोड़ी कमी आएगी, क्योंकि कंपनी इस समय उनके गाड़ियों में लगने वाले इलेक्ट्रानिक कंपोनेंट्स की कमी से गुजर रही है। इसका मतलब साफ है कि पिछले महीने की तुलना में दिसंबर में मारुति का प्रोडक्शन कम रहेगा। आइये समझते हैं इलेक्ट्रिक कंपनोनेंट्स की क्यों हो रही शार्टेज?

मारुति पर सेमीकंडक्टर क्यों है सबसे अधिक असर

दअसल भारत में किफायती कीमत होने के चलते मारुति की गाड़ियों को सबसे अधिक खरीदा जाता है। वहीं कंपनी ने हाल ही में कुछ एडवांस गाड़ियों को भी लॉन्च किया है, जिसकी बंपर बुकिंग हुई है। अब ग्राहकों को गाड़ी डिलीवर भी करना है। कुल मिलाकर, मारुति की गाड़ियों की बढ़ती डिमांड और सेमीकंडक्टर जैसे इलेक्ट्रानिक कंपोनेंट्स की कमी के कारण मारुति का प्रोडक्शन पिछले महीने की तुलना में इस महीने कम हो सकती है।

गाड़ियों के इन पार्ट्स में इस्तेमाल होते हैं सेमीकंडक्टर

कारों में सेमीकंडक्टर इस्तेमाल हेड्स अप डिस्प्ले, ऑटोनॉमस ड्राइविंग ऐड, सेन्सर्स, सेलफोन और कम्यूनिकेशन इंटीग्रेशन के साथ उच्च दक्षता वाले इंजन के एलिमेंट्स में होता है। इसके साथ ही ड्राइवर असिस्टेंस, पार्किंग के लिए रियर कैमरा और सेंसर्स कंट्रोल, ब्लाइंड स्पॉट डिटेक्शन, एडेप्टिव क्रूज कंट्रोल, लेन चेंज असिस्ट, एयरबैग और इमरजें ब्रेकिंग में भी सेमीकंडक्टर की जरूरत होती है। यही वजह है कि मारुति ग्लोबल स्तर पर सेमीकंडक्टर की कमी और मारुति की गाड़ियों की हाई डिमांड के चलते इस चीज से जूझ रहा है।

क्या होता है सेमीकंडक्टर

सेमीकंडक्टर का इस्तेमाल करंट को नियंत्रित करने में किया जाता है। सेमीकंडक्टर असल में सिलिकॉन से बनाए जाते हैं जो चिप फॉर्म में होते हैं। मौजूदा समय में जितनी भी कारे मार्केट में अवेलेबल हैं उन सभी में सेमीकंडक्टर का इस्तेमाल किया जाता है। इनका इस्तेमाल करंट को नियंत्रित करने के लिए किया जाता है। चूंकि, इस समय रिमोट से गाड़ी स्टार्ट हो रही है और तमाम एडवांस टेक्नालॉजी से लैस गाड़ियां लॉन्च हो रही हैं तो एक ही गाड़ी में कई सेमीकंडक्टर की जरूरत पड़ती है।

इनके बगैर मौजूदा कारों की कल्पना करना बेकार है क्योंकि ये ना हों तो कार के हाईटेक फीचर्स को इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है। ऐसे में आपकी कार चुनिंदा फीचर्स के साथ ही अवेलेबल होगी। कारों को चलता फिरता कंप्यूटर बनाने में सेमीकंडक्टर की अहम भूमिका है। कार के कुछ पार्ट्स को और ज्यादा बेहतर और हाईटेक बनाने में सेमीकंडक्टर जरूरी भूमिका अदा करते हैं।

यह भी पढ़ें

कंपनियां भारी खर्च उठाकर भी क्यों करती गाड़ियों का रिकॉल, जानें भारत में क्या हैं इससे जुड़े नियम

Two wheeler Sales Nov 2022: दोपहिया वाहनों की तेजी से बढ़ रही बिक्री, जानिए किस ब्रांड ने मारा टॉप

Edited By: Atul Yadav

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट