नई दिल्ली, अंकित दुबे। इंडियन ऑटो सेक्टर में कॉम्पैक्ट एसयूवी और कॉम्पैक्ट हैचबैक सेगमेंट का कोई दौर लाया है, तो वो फ्रांस की कार निर्माता कंपनी Renault है और आज फिर भारत में इसी कंपनी ने एक नए सेगमेंट को जन्म दिया है। जी हां, हम बात कर रहे हैं Renault Triber की जो एक सब-4 मीटर MPV है और कंपनी ने इसमें सेगमेंट फर्स्ट् फीचर्स भी शामिल किए हैं। भारतीय बाजार में इसका डेब्यू जून महीने में किया गया था और तभी से यह कार काफी चर्चा का विषय बन गई। कंपनी ने इसे रेनो-निसान एलायंस के नए CMF-A प्लेटफॉर्म पर बनाया है, जिसपर रेनो क्विड और डेटसन रेडीगो बनी है। नए प्लेटफॉर्म के चलते कंपनी ने इसपर बेहतर काम किया है और इसे नए तरीके से मॉडिफाई किया है, जिससे इसका बड़ा डायमेंशन निखर कर सामने आया है। ज्यादा चौड़ी, ज्यादा लंबी, लेकिन सब-4 मीटर में और इसके बावजूद सभी के मन में एक सवाल खड़ा हो रहा है क्या ये 1000cc के इंजन के साथ पर्याप्त पावर दे सकेगी या नहीं? इन्हीं सब बातों का जवाब लेने हम गोवा पहुंचे वहां इसे करीब 100 km तक चलाया। तो क्या, ये वाकई किफायती कीमत के साथ आपकी उम्मीदों पर खरी उतरेगी, आइए जानते हैं इस पूरे रिव्यू में...

डिजाइन

सबसे पहले हम इसके डिजाइन की बात करें तो ये दिखने में काफी प्यारी लगती है। पहली बारी में आपको ये तय करना मुश्किल हो जाएगा कि यह एक 7 सीटर कार है या फिर हैचबैक। फ्रंट से लुक इसका काफी मॉडर्न है और क्विड की छाप भी छोड़ता है। फ्रंट ग्रिल पर कंपनी ने क्रोम का भी बेहतर इस्तेमाल किया है और ये काफी प्रीमियम लगती है। इसके अलावा यहां प्रोजेक्टर हेडलैंप्स दिए हैं और नीचे LED डेटाइम रनिंग लाइस्ट (DRLs) इसके स्टांस को काफी बढ़ाते हैं। साइड से दिखने में ये काफी लंबी नजर आती है और ऊपर दिए गए रूफ रेल्स और नीचे ब्लैक क्लैडिंग इसे स्पोर्टी लुक देते हैं। हमने टेस्टिंग के दौरान इसका RXZ वेरिएंट चलाया जिसमें 15-इंच के व्हील्स मिलते हैं, लेकिन इसमें स्टैंडर्ड 14-इंच के व्हील्स दिए गए हैं। पीछे से दिखने में भी ये काफी बोल्ड लुक देती है और इसमें दिए गए ईगल-बीक टेललैंप्स काफी आकर्षक लगते हैं।

इंटीरियर

कार के इंटीरियर में जैसे ही आप बैठेंगे तो यहां काफी इम्प्रेसिव और प्रीमियम फील होगा। इसके अलावा यहां आपको ज्यादा स्पेस भी मिलता है। यहां टू-टोन कलर्स मिलते हैं, डैशबोर्ड के अपर पार्ट में डीप ब्लैक मिलता है। वहीं, लोअर पार्ट और डोर ट्रिम्स के लिए व्हाइट टोन दिया गया है। कंपनी ने यहां प्लास्टिक का इस्तेमाल किया है, सॉफ्ट टच इसमें कहीं नहीं दिया, लेकिन प्लास्टिक भी काफी अच्छी ग्रेड वाले महसूस होते हैं। इसके अलावा इसमें एयर वेंट्स, AC डायल्स, स्टार्ट/स्टॉप बटन पर क्रोम ट्रिम का इस्तेमाल किया गया है। डोर हैंडल्स और डैशबोर्ड पर सिल्वर एसेंट्स देखने को मिलता है। सीट्स पर भी अच्छे कुशन का इस्तेमाल किया गया है। स्टीयरिंग टिल्ट मिलता है, टेलिस्कॉपिक इसमें मौजूद नहीं है। डिजिटल इंस्ट्रूमेंट क्लस्टर काफी बड़ा दिखता है। यह फुली डिजिटल LED इंस्ट्रूमेंट क्लस्टर है, जिसमें टैकोमीटर, फ्यूल लेवल और इंजन टेम्परेचर के तीन वर्चुअल गॉज देखने को मिलते हैं।

इसके अलावा ट्राइबर में 8 इंच का मल्टीमीडिया टच स्क्रीन दिया गया है जो MediaNav Evolution Connected मल्टीमीडिया सिस्टम से लैस है। यह सिस्टम Android Auto और Apple CarPlay के साथ आता है। टच क्वालिटी भी इसकी सेगमेंट में काफी बेहतर साबित होती है और इसे एक्सेस करना भी काफी आसान है। इसके अलावा कंपनी ने यहां दो ग्लॉव कम्पार्टमेंट्स दिए हैं, जिसमें ऊपर वाला थोड़ा छोटा है। वहीं, नीचे कूल्ड ग्लॉवबॉक्स दिया है।  सामान रखने की भी काफी ठीक-ठाक जगह मौजूद है और हेंड ब्रेक के बगल में एक स्टोरेज कम्पार्टमेंट भी मिलता है जो कूल्ड फीचर के साथ आता है। फ्लैट बॉटम स्टीयरिंग व्हील भी काफी अच्छा दिया गया है। इसके अलावा दूसरी पंक्ति (बी-पिलर) और तीसरी पंक्ति (सी-पिलर) के लिए भी कंपनी ने डेडीकेटेड फैन स्पीड कंट्रोलर दिया है, जो AC वेंट्स को कंट्रोल करते हैं। तीसरी पंक्ति पर बैठे यात्रियों के लिए कंपनी ने 12V चार्जिंग शॉकेट भी दिया है।

ड्राइवर सीट काफी आरामदायक महसूस होती है और दूसरी पंक्ति में भी लंबी हाइट वाले यात्री आसानी से बैठ सकते हैं। अगर आप सिर्फ चार लोग ही सफर कर रहे हैं तो इसमें पर्याप्त हैड रूम और लेग रूम मिलता है। यहां बस एक कमी महसूस होती है कि दूसरी पंक्ति में बैठे यात्रियों के लिए कोई आर्मरेस्ट मौजूद नहीं है। तीसरी पंक्ति में जाने का एक्सेस काफी आसान है। हालांकि, यहां सिर्फ बच्चो के लिए पर्याप्त जगह है और एवरेज हाइट वाले लोग भी आसानी से बैठ सकते हैं। लंबे यात्रियों के लिए थोड़ी दिक्कत हो सकती है। कुल मिलाकर इंटीरियर में काफी अच्छा खासा स्पेस मिलता है और ग्राहकों को काफी पसंद आने वाला है।

मॉड्यूलर सीटिंग

इस कार की सबसे बड़ी USP इसकी मॉड्यूलर सीटिंग ही है। इतना ही नहीं ये सेगमेंट में सबसे पहले फीचर के साथ आती है। इस सेगमेंट की किसी और गाड़ी में ये फीचर नहीं मिलता। दूसरी पंक्ति की सीटें स्पिल्ट और स्लाइटिंग फंक्शन के साथ आती हैं। वहीं, तीसरी पंक्ति की सीटें डिटेचेबल हैं। अगर आपको ज्यादा बूट स्पेस चाहिए तो तीसरी पंक्ति की सीटें आसानी से निकाल सकते हैं और इसमें प्रत्येक सीट को निकालने में 30 सेकंड से भी कम वक्त का समय लगता है। अगर आप 7 सीटर के साथ ये गाड़ी चला रहे हैं तो आपको सिर्फ 84 लीटर का बूट स्पेस मिलता है। वहीं, अगर इसे 6 सीटर पर रखते हैं तो आपको 320 लीटर का बूट स्पेस और 5 सीटर पर आपको ये 625 लीटर का बूट स्पेस ऑफर करती है। कंपनी का दावा है कि इसमें करीब 100 विभिन्न सीटों की कॉन्फिग्रेशन मिलती है। इसकी सबसे बड़ी USP और सबसे बड़ा फीचर इसकी सीटें ही हैं, जो ग्राहको को काफी पसंद आने वाली हैं।

सेफ्टी

सेफ्टी और बिल्ट क्वालिटी की बात करें तो ये काफी बेसिक से लगते हैं। कंपनी इन्हें थोड़ा और बेहतर बना सकती थी। दूसरी पंक्ति में बैठे यात्रियों के लिए सीट बेल्ट तो दी है लेकिन ये टू-प्वाइंट हिप सीटबेल्ट के साथ आती है और तीसरी पंक्ति की सीटबेल्ट के लिए कोई प्रीटेंशनर नहीं दिया गया। इसके अलावा रेनो इसमें ISOFIX चाइल्ड सीट माउंट्स भी ऑफर नहीं कर रही है, जो कि फैमिली कार के लिए होनी चाहिए। डुअल फ्रंट एयरबैग्स स्टैंडर्ड हैं, लेकिन टॉप मॉडल में चार एयरबैग्स मिलते हैं।

पावर, ड्राइव और हैंडलिंग

ट्राइबर में 1.0 लीटर का 3-सिलेंडर पेट्रोल इंजन मिलता है, जो कि 72 PS की पावर और 96 Nm का टॉर्क जनरेट करता है। इंजन फिलहाल BSIV है, लेकिन कंपनी जल्द ही इसे BSVI में भी अपग्रेड कर देगी। इंजन सिर्फ 5-स्पीड मैनुअल ट्रांसमिशन से लैस है। 1000 rpm पर इंजन स्टार्ट होता है और पहले गियर में उठाने के वक्त आपको काफी पावरफुल महसूस होती है। हमारी सिटी ड्राइव में इसने हमें काफी बेहतर पावर का अनुभव दिया लेकिन दूसरे और तीसरे गियर में चलाने के दौरान ये थोड़े झटके देती है। मगर, अगर आप इसे खुली सड़कों पर चौथे और पांचवे गियर पर चला रहे हैं तो काफी स्मूथ राइडिंग का अनुभव मिलता है। केबिन में भी शोर काफी कम आता है। 1000 cc के बावजूद ऐसा लगता है कि आप 1200cc इंजन वाली गाड़ी चला रहे हैं। हालांकि, मुझे लगता है अगर आप इसमें 7 लोग बैठकर जा रहे हैं तो इसका इंजन थोड़ी परेशानी दे सकता है, वो भी तब जब आप इसे ऊंचाई पर चला रहे हैं।

सीधी सड़कों पर तो इसमें 7 लोग बैठकर आसानी से बिना किसी दिक्कत के कहीं भी जा सकते हैं और आपको इसकी पावर की कमी महसूस नहीं होगी। इसके अलावा अगर आप दो लोग या चार लोग जा रहे हैं तो इंजन की प्रतिक्रिया काफी स्मूथ देखने को मिलती है। स्टीयरिंग काफी हल्का है और मोड़ के दौरान भी इसका बैलेंस गीली सड़कों पर भी बना रहता है। क्लच भी काफी हल्का है तो भीड़-भाड़ वाले इलाकों में गियर शिफ्ट करने में कोई दिक्कत नहीं होती और गियर शिफ्ट करना भी काफी आसान है। कुल मिलाकर इसकी पावर हमें पर्याप्त लगी, लेकिन अगर इसमें ज्यादा वजन लादकर किसी पहाड़ी इलाकों में जा रहे हैं तो शायद आपको ये थोड़ा निराश कर सकती है। ब्रेकिंग की बात करें तो इसकी स्टॉपिंग पावर भी हमें काफी अच्छी लगी है। फ्रंट में डिस्क ब्रेक और रियर में ड्रम ब्रेक मिलते हैं।

हमारा फैसला:

रेनो ट्राइबर को कंपनी ने चार वेरिएंट्स - RXE, RXL, RXT और RXZ में लॉन्च किया है। इसमें इसकी शुरुआती कीमत 4.95 लाख रुपये से लेकर 6.49 लाख रुपये (एक्स शोरूम) है। राइड और हैंडलिंग काफी बेहतर है और सबसे खास बात इसमें भरपूर स्पेस मिलता है, हर चीज के लिए। अगर आप भी इन दिनों एक ऐसी ही भरपूर स्पेस वाली किफायती MPV की तलाश कर रहे हैं तो Renault Triber के बारे में विचार कर सकते हैं। इसमें दी गई डिटेचेबल और एडजस्टेबल सीटें काफी बेहतर साबित होती हैं और ये किसी और सेगमेंट में मौजूद भी नहीं है।

Posted By: Ankit Dubey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप