नई दिल्ली (बनी कालरा)। मारुति सुजुकी की डीजल स्विफ्ट के साथ कुछ समय बिताने का मौका हमें मिला, लुक्स के मामले में कार काफी हद तक इम्प्रेस करती है, इसमें नया प्लेटफार्म इस्तेमाल किया है, ऐसे में देखने वाली बात यह है कि आखिर कैसी है नई स्विफ्ट की परफॉरमेंस, अगर आप अभी भी इस कार को खरीदने की सोच रहे हैं तो पहले इस रिव्यू को जरूर देखें।

लुक्स और स्पेस: सबस पहले जो स्विफ्ट आई थी उसने अपने लुक्स से काफी इम्प्रेस किया था, उसके बाद कई अपडेट कार में किये गये जोकि बहुत ज्यादा इम्प्रेस नहीं कर सके, ऐसे में अब जो नई स्विफ्ट आई है यह काफी हद तक लुभाने में कामयाब होती है, इसका लुक्स स्टाइलिश और मॉडर्न है, इसका कैबिन ब्लैक थीम पर बेस्ड है,

कार में स्पेस काफी अच्छा है, साथ ही सामान रखने के लिए इसमें अच्छा बूट स्पेस दिया गया है। केबिन स्पेस को भी बढ़ाकर 200 लीटर से 254 लीटर तक किया जाएगा।

कीमत और फीचर्स: नई स्विफ्ट डीजल की दिल्ली में एक्स-शो रूम कीमत 5.99 लाख रुपये से लेकर 8.29 लाख रुपये तक जाती अहि में पैसेंजर सुरक्षा को काफी पुख्ता किया गया है। इसके सभी वेरिएंट में ड्यूल एयरबैग, एंटी-लॉक ब्रेकिंग सिस्टम (एबीएस), ईबीडी, ब्रेक असिस्ट और आईएसओफिक्स चाइल्ड सीट एंकर स्टैंडर्ड दिए गए हैं।

इंजन और परफॉरमेंस: डीजल स्विफ्ट को परखने को मौका हमें मिला, इंजन की बात करें तो इसमें 1.3 लीटर का डीज़ल इंजन लगा है, जो 75PS पावर और 190Nm का टॉर्क देता है। जोकि 5-स्पीड AMT गियरबॉक्स से लैस है। एक लीटर में यह 28.4 km की माइलेज निकाल देती है।

नई स्विफ्ट हार्टेक्ट प्लैटफॉर्म पर बेस्ड है। चलाते समय यह हल्की और फुर्तीली लगती है। लेकिन हाई स्पीड पर भी कार का बैलेंस बरकरार रहता है। इसमें पावर और पिकअप की कमी नजर नहीं आती। सिटी और हाईवे पर कार निराश नहीं करती। हांलाकि AMTस्मूथ तो रहा लेकिन कई बार गियर चेजिंग के समय झटका महसूस होता है लेकिन इसमें कोई परेशानी की बात ही नहीं है।

क्या खरीदनी चाइये नई स्विफ्ट: नए प्लेटफार्म की वजह से यह स्ट्रोंग होने के साथ फुर्तीली भी हो गई है। इसकी परफॉरमेंस अच्छी है, कार में नयापन है और लॉन्ग ड्राइव के दौरान थकान नहीं होती, ऐसे में इस कार को खरीदा जा सकता है। नई स्विफ्ट का मुकाबला

इनसे है मुकाबला: नई स्विफ्ट का सीधा मुकाबला हुंडई की ग्रैंड आई 10, टियागो और फोर्ड की फिगो के साथ होगा। लेकिन अपनी बेहतर आफ्टरसेल्स सर्विस की वजह से इस समय तो स्विफ्ट का पलड़ा ही भारी नजर आ रहा है, क्योकिं कोई भी अच्छा प्रोडक्ट तब तक कामयाब नहीं हो सकता जब तक उसकी आफ्टर सेल्स सर्विस अच्छी न हो

Posted By: Bani Kalra