नई दिल्ली (बनी कालरा)। बंपर टू बंपर ट्रैफिक में मैन्युअल से ज्यादा AMT(ऑटोमैटेड मैनुअल ट्रांसमिशन) वाली गाड़ियां ड्राइव करना आसान रहता है। आजकल AMT टेक्नोलॉजी छोटी हर सेगमेंट की कारों में देखने को मिल रही है, खासकर एंट्री लेवल कारों में यह खूब पसंद की जा रही है। ऐसे में डैटसन ने अपनी छोटी कार रेडी-गो को भी AMT के साथ मार्किट में उतार दिया है, रेडी-गो AMT की ड्राइव करने का मौका हमें मिला आइये जानते हैं कितना दम है रेडी-गो AMT में...

कीमत: डैटसन रेडी-गो AMT केवल टॉप वेरिएंट में मिलगी जोकि दो वेरिएंट T(O) और S में उपलब्ध है, रेडी-गो 1.0 लीटर AMT अपने मैन्युअल वर्जन 1.0 लीटर से करीब 22000 रूपए महंगी हैं। इनकी कीमत के बारे में विस्तार से बात करें तो डैटसन रेडी-गो 1.0 लीटर T(O) मैन्युअल वर्जन की कीमत 3.58 लाख रूपए रखी गई है जबकि इसके AMT वर्जन की कीमत 3.80 लाख रुपये रखी है इसके अलावा रेडी-गो 1.0 लीटर S मैन्युअल वर्जन की कीमत 3.73 लाख रूपए है तो वही S AMT वर्जन की कीमत 3.95 लाख रुपये है तो यहां पर फर्क 22,000 रुपये का है।

कैबिन और फीचर्स: रेडी-गो AMT का कैबिन वैसा ही है जैसा मैन्युअल वर्जन का है, लेकिन जो फर्क है वो है इसमें लगा AMT गियर लीवर. वैसे इस कार में स्पेस अच्छा है, 4 लोग आराम से बैठ सकते हैं लेकिन पांच लोगों के लिए मामला थोड़ा टाइट होगा। वैसे इसमें हेडरूप के लिए जगह बेहतर है, सामान रखने के लिए कार में छोटे-बड़े स्टोरेज दिए हैं, सामान रखने के लिए इसके रियर में अच्छा स्पेस दिया है।

कार में ब्लूटूथ इनेबल ऑडियो सिस्टम मिलेगा, इस में सेंट्रल लॉकिंग सिस्टम और की-लैस एंट्री जैसे फीचर्स भी देखने को मिलते हैं। ये सभी फीचर रेडी-गो के T वेरिएंट में दिए गए हैं। सेफ्टी के लिए कार में ड्राइवर साइड एयरबैग भी आएगा।

इंजन और परफॉरमेंस: AMT की सुविधा रेडी-गो के 1.0 लीटर वर्जन में उपलब्ध है, इंजन पर नजर डालें तो इसमें 1.0L पेट्रोल इंजन जो 68PS की पावर 5500 rpm पर देता है जबकि 91Nm टार्क 4250 rpm मिलता है इसके अलावा इसमें 5 स्पीड AMT गियर बॉक्स लगा है।

रेडी-गो AMT में रेनो क्विड वाली 5-स्पीड ईजी-आर AMT यूनिट मिलेगी। रेडी-गो AMT में क्रीप फंक्शन और मैनुअल मोड फीचर मिलेंगे। गाड़ी को ड्राइव करते समय कोई दिक्कत नहीं होती लेकीन जैसे-जैसे गियर शिफ्ट होते हैं तो उसका पता ड्राइव के दौरान पता चलता है या यूं कहें तो शिफ्टिंग स्मूथ नहीं है।

कुछ-कुछ जगह पावर की कमी महसूस होती है। लेकिन सिटी ड्राइव में कार बेहतर रही। रश आवर मोड बम्पर-टू-बम्पर ट्रैफिक की स्थिति से निपटने के लिए सहायता करेगा और 5-6km घंटे की रफ्तार प्रदान करेगा। एक लीटर में यह कार 22.50km की माइलेज देती है।

क्या खरीदनी चाइये रेडी-गो AMT? जिस तरह रेनो ने क्विड AMT की कीमत काफी उचित रखी थी ठीक उसी तरह डैटसन ने भी रेडी-गो AMT को भी उचित कीमत पर पेश किया। इस सेगमेंट में रेनो की क्विड और मारुति सुजुकी की ऑल्टो K10 भी आती है लेकिन यहां पर रेडीगो की कीमत इन सबसे से कम है जिसका फायदा ग्राहकों को होगा। डैटसन भारत में एक लम्बी पारी खेलने के मूड है।

रेडी-गो AMT कम बजट में एक अच्छी कार कही जा सकती है। लेकिन सिर्फ एक अच्छी कार बनाने से ही बात नहीं बनती, उसके लिए सबसे जरूरी होता है आफ्टर सेल्स सर्विस, जो फिलहाल डैटसन की मारुति सुजुकी के मुकबले कम है, और यहां पर कंपनी को अभी और काफी काम करना होगा।

By Bani Kalra