नई दिल्ली, ऑटो डेस्क। कोरोना महामारी में हर कोई भीड़-भाड़ वाली जगहों पर जाने के लिए हर कोई कतराता है। हर कोई अपनी पर्सनल कार से चलना चाहता है, लेकिन मंहगाई के इस दौर में कार खरीदना लोगों के लिए मुश्किल है। ज्यादातर लोग लोन लेकर कार खरीद रहे हैं, लेकिन लोन लेने के बाद हर महीने ईएमआई का बोझ आम आदमी को काफी परेशान करने लगता है, क्योंकि वाहनों का इश्योरेंस वर्तमान में महंगा हो गया है। कई बार इंश्योरेंस कराने के बाद हम खुद को ठगा महसूस करते हैं। ऐसे में आपको यह ध्यान देना होगा कि आप जब भी कार इंश्योरेंस कराने जाए तो कुछ बातों का खास ध्यान रखें। इन टिप्स को फॉलो करके अपनी कार इंश्योरेस के प्रीमियम को भी कम कर सकते हैं। तो आइए जानें कुछ टिप्स...

1- तुलना करने के बाद लें बेस्ट इंश्योरेंस

सबसे पहले आपको सभी कंपनी के इंश्योरेंस को कम्पेयर करना चाहिए। आप जब कार का इंश्योरेंस कराएं या उसे रिन्यू कराएं उससे पहले मार्केट में सभी इंश्योरेंस कंपनियों के प्लान को अच्छे से जानें। सभी कंपनी के इंश्योरेंस एजेंट से संपर्क कर अपने पास कोटेशन मंगा लीजिए। अगर आपको वह महंगा लगता है तो आप दूसरी कंपनियों के कोटेशन से उसे कम्पेयर करें और आपको जो सही लगे वही इंश्योरेंस लें।

2- डिस्काउंट के बारे में लें जानकारी

जब आप किसी कंपनी के पास जाएं, कंपनी से डिस्काउंट भी मांगे। जब भी आप अपने वाहन का इंश्योरेंस कराएं डीलर या इंश्योरेंस प्रोवाइडर से डिस्काउंट के बारे में जानकारी जरूर लें। कई इंश्योरेंस कंपनियां ट्रैफिक रुल्स को फॉलो करने वालों को अतिरिक्त छूट भी देती हैं। अगर आपने कम क्लेम लिए हैं, तो बीमा कंपनियां इसे ध्यान में रखती हैं। ऐसे में आप नो क्लेम बोनेस की मांग कर सकते हैं।

3- एनसीबी को स्थानांतरित कर प्रीमियम में करें कटौती 

यदि आपने 6-7 वर्षों में एक बड़ा नो-क्लेम बोनस अर्जित किया है, और एक नई कार खरीदने की योजना बना रहे हैं, तो आप अपनी पुरानी बीमा पॉलिसी से नई कार बीमा में एनसीबी को स्थानांतरित करके अपने प्रीमियम में काफी कटौती कर सकते हैं।

4- पॉलिसी को कस्टमाइज करें

आपको अपने हिसाब से कार इंश्योरेंस पॉलिसी चुनना चाहिए। अगर आपको इंश्योरेंस प्रीमियम कम करना है, तो आप अपनी जरूरत के हिसाब से पॉलिसी को कस्टमाइज करा सकते हैं। हालांकि, कंपनियां कुछ पैकेज भी देते हैं, जैसे चाबी गुम होने पर क्लेम, इसके अलावा इंजन सिक्योर, रोड साइड असिस्टेंस, निजी सामान के खोने पर क्लेम जैसे फायदे ऑफर करती हैं। इससे आपका प्रीमियम बढ़ता जाता है। आप चाहें तो अपने अनुसार कम प्रीमियम वाली पॉलिसी का चुनाव कर सकते हैं.

5- खरीदें एंडी-थेफ्ट डिवाइस वाली कार

आपको एंटी-थेफ्ट डिवाइस वाली कार खरीदने पर ध्यान देना चाहिए। इससे आपकी भारी बचत होगी। आप पूछेंगे वो कैसे? अगर आपकी कार में जीपीएस, स्टीयरिंग लॉक जैसे डिवाइसेज लगे हैं, जिससे कार चोरी होने का खतरा कम हो जाता है, तो आपको ऐसी कारों को खरीदना चाहिए, इससे आपकी कार भले ही थोड़ी मंहगी होगी, लेकिन आपकी बीमा पॉलिसी का बोझ भी थोड़ा कम होगा।

6- कार को न कराएं मॉडिफाई

आपको कार में बाहर से मॉडिफिकेशन नहीं कराना चाहिए। अक्सर आजकल लोग अपने हिसाब से अपनी कार या बाइक को मॉडिफाई कराते हैं। ऐसा करने से आपकी कार की वारंटी भी खत्म होती है। इंश्योरेंस कंपनियां भी अपना प्रीमियम बढ़ा देती हैं, इसलिए खर्च से बचना है, तो कार में मॉडिफिकेशन नहीं कराना चाहिए।

Edited By: Sarveshwar Pathak