Move to Jagran APP

EV चार्ज करते समय भूलकर भी न करें ये काम, नहीं तो हो जाएगा भारी नुकसान

कभी भी बैटरी को जरूरत से अधिक न चार्ज करें। ईवी बैटरी चार्ज करते समय इसे 100 प्रतिशत तक करने से बचें। अधिकांश ईवी में पाई जाने वाली लिथियम-आयन बैटरी 30-80 प्रतिशत चार्ज रेंज में सबसे अच्छा काम करती हैं। (जागरण फोटो)

By Atul YadavEdited By: Atul YadavWed, 22 Mar 2023 08:00 AM (IST)
इन टिप्स को फॉलो करके अपनी ईवी की बैटरी को रखें सेफ

नई दिल्ली, ऑटो डेस्क। अगर आप ईवी यूजर हैं तो आपको थोड़ा सतर्क रहने की जरूरत है। इलेक्ट्रिक व्हीकल को चार्ज करने के कुछ तरीके होते हैं। बहुत से लोग अनजाने में कई ऐसी गलतियां कर बैठते हैं, जिससे उनके ईवी की बैटरी कम रेंज देती है या फिर बैटरी से जुड़ी समस्याएं सामने आने लगती हैं। ऐसे में इस खबर के माध्यम से बताने जा रहे हैं ईवी चार्ज करने के सही तरीकों के बारे में।

धूप में चार्जिंग पर लगाने से बचें

धूप में इलेक्ट्रिक व्हीकल को चार्जिंग में लगाना समझदारी नहीं है, क्योंकि इलेक्ट्रिक व्हीकल में लिथियम आयन बैटरी आती है, जो अधिकतम प्रेशर के लिए बेहतरीन नहीं मानी जाती है। इससे गाड़ी और हीट हो सकती है और बैटरी के सेहत पर प्रभाव पड़ सकता है। इसलिए जब भी आप अपने इलेक्ट्रिक कार को चार्जिंग में लगाएं तो इसका ध्यान जरूर दें।

बैटरी डिस्चार्ज होने से बचाएं

अगर आपको अच्छी रेंज चाहिए तो आपको बैटरी को लेकर थोड़ी अतिरिक्त सावधानी बरतनी होगी। ईवी बैटरी को पूरी तरीके से डिस्चार्ज नहीं होने देना चाहिए, क्योंकि जब आप पूरी तरीके से डिस्चार्ज बैटरी को चार्ज के लिए लगाते हैं तो शुरुआत में जो इलेक्ट्रिसिटी एनर्जी लगती है, वह ज्यादा होती है। इससे आपके इलेक्ट्रिक चार्जिंग कॉस्ट में काफी फर्क देखने को मिलता है। इसलिए सलाह दी जाती है कि 10 से 15 परसेंट तक अगर आपकी बैटरी डाउन है तो उसे पूरी तरह से चार्ज कर सकते हैं।

ओवर चार्जिंग न करें

कभी भी बैटरी को जरूरत से अधिक न चार्ज करें। यह स्मार्टफोन की बैटरी से मिलता-जुलता है। ईवी बैटरी चार्ज करते समय, इसे 100 प्रतिशत तक करने से बचें। अधिकांश ईवी में पाई जाने वाली लिथियम-आयन बैटरी 30-80 प्रतिशत चार्ज रेंज में सबसे अच्छा काम करती हैं। बैटरी को लगातार पूरी क्षमता से चार्ज करना बैटरी पर दबाव डालता है।

ड्राइविंग के तुरंत बाद न करें चार्ज

बहुत से लोग गाड़ी चलाकर जब लौटते हैं तो तुरंत गाड़ी को चार्ज में लगा देते हैं। ऐसा करने से बचना चाहिए। मोटर को बिजली की आपूर्ति करते समय लिथियम-आयन बैटरी अत्यधिक गर्मी पैदा करती हैं। कम से कम 30 मिनट के कूलिंग के बाद बैटरी को चार्ज करना हमेशा सुरक्षित रहता है।