मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

नई दिल्ली, ऑटो डेस्क। इन दिनों नई कार के खरीदार काफी कम हो गए हैं, जिसके चलते ऑटो सेक्टर में मंदी देखी जा सकती है। हालांकि, यूज्ड कारों की विक्रेता मारुति ट्रू वेल्यू के मुताबिक सेकंड हैंड कारों की खरीदारी में बढ़ोतरी देखने को मिल रही है। सबसे बड़ी बात अब कम कीमत में अच्छी कंडीशन यूज्ड कारे बाजार में काफी ज्यादा हो रही हैं और लोग पैसे बचाने के लिए भी इन कारों की ओर ज्यादा रुख मोड़ रहे हैं। आज हम अपनी इस खबर में यूज्ड कारों को खरीदने के फायदों के बारे में बता रहे हैं।

डॉक्युमेंट में कम झंझट: पुरानी गाड़ी खरीदने पर आपको ज्यादा डॉक्यूमेंट देने की जरूरत नहीं होती। साथ ही आपको नए वाहन पर रजिस्ट्रेशन में होने वाला खर्च भी बच जाता है। हालांकि, कई बार पुरानी गाड़ी खरीदते समय मन में यह बात रहती है कि कोई गाड़ी खरीदते वक्त धोखा न हो जाए, लेकिन आपको बता दें बाजार में आजकल ऐसे कई सर्टिफाइड फर्म मौजूद हैं जो डॉक्यूमेंट को वेरिफाई करके ही का बेचते हैं। इसलिए आपको ज्यादा चिंता करने की जरूरत नहीं होती।

पुरानी कार पर मिलती है अच्छी री-सेल वैल्यू: हमेशा पुरानी कार फिर से बेचने पर ज्यादा नुकसान नहीं होता। इतना तो आपको पता ही होगा कि शोरूम से सड़क पर आते ही कार के दाम 10 से 12 फीसद तक गिर जाते हैं। इसके अलावा नई कार को 3 साल बाद बेचते हैं तो करीब 30 फीसद कार के दाम गिर जाते हैं। जबकि पुरानी कार के मामले में ऐसा नहीं है, अगर फिफायती कीमत पर पुरानी कार खरीदते हैं, तो बेचने के समय उसकी अच्छी रीसेल वैल्यू भी पा सकते हैं।

पुरानी कार भी कर सकते हैं अपग्रेड: अगर आप अपने हिसाब से पुरानी गाड़ी अपग्रेड कराना चाहते हैं तो आप उसे भी अपग्रेड करा सकते हैं, लेकिन फिर भी इसकी कीमत नई गाड़ी से कम ही रहेगी। आप अपनी पुरानी गाड़ी के इंजन के साथ लेटेस्ट फीचर्स से भी अपग्रेड करा सकते हैं।

Posted By: Ankit Dubey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप