PreviousNext

दूसरे दिन भी डॉक्‍टरों की कमी से जूझ रहे महाराष्‍ट्र के सरकारी अस्‍पताल

Publish Date:Tue, 21 Mar 2017 10:37 AM (IST) | Updated Date:Tue, 21 Mar 2017 12:17 PM (IST)
दूसरे दिन भी डॉक्‍टरों की कमी से जूझ रहे महाराष्‍ट्र के सरकारी अस्‍पतालदूसरे दिन भी डॉक्‍टरों की कमी से जूझ रहे महाराष्‍ट्र के सरकारी अस्‍पताल
महाराष्‍ट्र में रेजिडेंट डॉक्‍टरों के सामूहिक अवकाश का आज दूसरा दिन है। इसकी वजह से मरीजों को काफी परेशानी हो रही है।

मुंबई। अपने साथी डाक्‍टर पर हुए हमले के खिलाफ मुंबई समेत महाराष्ट्र के कई हिस्सों में सामूहिक अवकाश पर गए डाक्‍टरों का आज दूसरा दिन है। इसकी वजह से मरीजों को काफी परेशानी हो रही है। इसके चलते राज्‍य के करीब 17 अस्‍पतात बुरी तरह से प्रभावित हुए हैं। इनमें से चार मुंबई के हैं। करीब चार हजार से अधिक रेजिडेंट डॉक्‍टर सोमवार से ही सामूहिक अवकाश पर चले गए हैं। इस बीच बॉम्‍बे हाई  कोर्ट में एक जनहित याचिका दायर की गई है जिसमें डाक्‍टरों के सामूहिक अवकाश पर जाने को गैरकानूनी बताया गया है। इस पर कोर्ट संभवत: आज सुनवाई भी करेगा।

सामूहिक अवकाश पर जाने वाले डाक्‍टरों का कहना है कि वह ऐसे माहौल में काम नहीं कर सकते हैं जहां पर उनकी अपनी ही जान खतरे में पड़ जाए। इस बीच बीते 48 घंटों में दो अस्‍पतालों में भी डॉक्‍टरों पर हमले की खबर है। पिछले एक सप्‍ताह में ही ऐसी करीब पांच घटनाएं हो चुकी हैं। डॉक्‍टरों के इस डर को देखते हुए डीजीपी ने डाक्टरों को अस्पतालों में 500 अतिरिक्त सशस्त्र पुलिसकर्मी तैनात किए जाने का आश्‍वाशन दिया है। वहीं मुंबई के मेयर वी महदेश्वर ने शाम तक काम शुरू करने के लिए डॉक्टरों से अपील की है और अगर वो काम पर नहीं लौटते हैं तो उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की भी बात कही है।

साथ ही उन्‍होंने कहा कि डॉक्‍टरों के ऊपर हमला करने वालों को बख्‍शा नहीं जाएगा। उनका यह भी कहना है कि डॉक्‍टरों की परेशानी को देखते हुए अस्‍पतालों में मरीजों के साथ रुकने के लिए अटेंडेंड की संख्‍या को कम किया जाएगा। मरीजों से मिलने के लिए भी पास दिए जाएंगे। यदि कोई बिना पास के अस्‍पताल के वार्ड में दिखाई देता है तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। डॉक्‍टरों की कमी से जूझ रहे कुछ अस्‍पतालों में वैकल्पिक व्‍यवस्‍था भी की है।

गौरतलब है कि पिछले दिनों धुले, नासिक और सायन के सरकारी अस्‍पतालों में डॉक्‍टरों पर मरीजों के परिजनों द्वारा हमला किया गया था। इन परिजनों का आरोप था कि उनके मरीज का इलाज ठीक तरह से नहीं किया जा रहा है। इस तरह के हमलों के बाद से ही डॉक्‍टराें में काफी रोष व्‍याप्‍त था। राज्‍य के सरकारी अस्‍पताल में डॉक्‍टरों के ऊपर हो रहे हमले से राज्‍य के डाक्‍टर काफी असुरक्षित महसूस कर रहे हैं।

सामूहिक अवकाश पर गए महाराष्‍ट्र के रेजिडेंट डॉक्‍टर्स, मरीज हो रहे परेशान

गिलगिट-बाल्टिस्तान को पांचवां प्रांत बनाने पर PoK में लगे पाक विरोधी नारे

खुशहाली के मामले में भारत से कहीं आगे है पाकिस्तान, डेनमार्क है नंबर वन

यूपी की कमान योगी के हाथों में सौंपने से पाक मीडिया में मची हलचल

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:3000 Maharashtra resident doctors remain on mass leave(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

देश के कई स्थानों पर गंगा में डुबकी लगाना हानिकारकः गोयलपाकिस्‍तान में पति भारतीय पत्‍नी पर कर रहा जुल्‍म, सुषमा स्‍वराज ने भेजी मदद
यह भी देखें