मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

लंदन, एजेंसी। गुलाम कश्‍मीर के मानवाधिकार कार्यकर्ता आरिफ आजकिया ने पाकिस्‍तान पर तंज कसते हुए कहा है कि पाक हुकूमत और सेना की चिंता भारत के चंद्रयान-2 और कश्‍मीर पर है। उनकी चिंता का विषय गुलाम कश्‍मीर या पाकिस्‍तान की कानून व्‍यवस्‍था नहीं है। उन्‍होंने पाक हुकूमत को आईना दिखाया है। आरिफ ने कहा पाकिस्‍तान सरकार अपनी चिंताओं एवं समस्‍याओं पर ध्‍यान देने के बजाए पड़ोसी भारत पर ध्‍यान दे रही है।  
उन्‍होंने इसरो के चंद्रयान 2 की तारीफ करते हुए कहा कि  अंतरिक्ष विज्ञान के क्षेत्र में भारत ने जो सफर तय किया है, वह एक महान उपल्बिध है। इसरो का चंद्रयान 2 भारत का एक शानदार मिशन है। उन्‍होंने सवाल के लहजे में कहा कि नासा ने इसरो की सराहना किया है। नासा ने कहा है कि अतंरिक्ष विज्ञान के क्षेत्र में यह इसरो की बहुत बड़ी कामयाबी है। उन्‍होंने कहा कि नाकाम वही होते हैं जो कोशिश करते हैं। इस पर सवाल करते हुए उन्‍होंने कहा कि नासा की इस टिप्‍पणी पर आखिर पाकस्तिान के हुक्‍मरान क्‍या कहेंगे।  

उन्‍होंने कहा कि आप लोग पाकिस्‍तान जनता को बेवकूफ बना रहे हैं। आप रैलियां कर रहे हैं। क्‍या सरकार का यही काम है। फवाद चौधरी जी आप विज्ञान एवं प्रौद्यौगिकी मंत्री हैं। आप रिक्‍शा और साइकिल से बाहर आइए। मुल्‍क के मुस्‍तकबिल के बारे में सोचिए। आप जिस युग में है वह मेट्रो का युग है आप रिक्‍शा में सफर कर रहे हैं। यही आपका स्‍तर है। यही पाकिस्‍तान का विकास है।  
मानवाधिकार कार्यकर्ता ने कहा कि पाकिस्‍तान हुकूमत एंव जनरल आसिफ गफूर पड़ोसी मुल्‍क भारत को नसीहत दे रहे है। उन्‍होंने कहा पाक सरकार की नजर पाकिस्‍तान पर क्‍यों नहीं जाती है।' आरिफ ने आगे कहा कि 'आपने इस मुल्‍क को मजाक बनाकर रख दिया है, जहां भी हम जाते हैं हमारा मजाक उड़ाया जाता है। आपको कश्‍मीर और चंद्रयान-2 की चिंता ज्‍यादा है और अपनी समस्‍याओं पर नजर नहीं जा रही है।' पाकिस्‍तान की कानून व्‍यवस्‍था हो या उसकी अर्थव्‍यवस्‍था हो आज कहां हैं आप। कभी साेचा है आपने।   
 

यह भी पढ़ें: अमेरिकी राष्ट्रपति बोले- कम हुआ भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव, अगर दोनों देश चाहें तो...

यह भी पढ़ें: पाक की बढ़ी मुसीबत, अब पीओके के पश्तूनों ने इमरान खान के खिलाफ मोर्चा, कर रहे प्रदर्शन

 

Posted By: Ramesh Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप