मास्को, एपी। पश्चिमी देशों के साथ तनाव के बीच रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने सेना के आधुनिकीकरण के तहत सोमवार को नई पनडुब्बियों और अन्य युद्धपोतों का निर्माण कार्य का आरंभ किया। वीडियो काल में पुतिन ने सेवरोडिविन्स्क, सेंट पीटर्सबर्ग और कोमोसोमोल्स्क आन अमुर गोदी में अंतरमहादेशीय बैलिस्टिक मिसाइल से लैस दो परमाणु पनडुब्बियों, दो डीजल चालित पनडुब्बियों और दो युद्धपोत का निर्माण करने का आदेश दिया।

इस मौके पर पुतिन ने कहा, 'हम रूसी नौसेना की क्षमता को बढ़ाने, उसके ठिकानों और अवसंरचना का विकास व आधुनिक हथियारों से लैस करने की प्रक्रिया जारी रखेंगे। उन्होंने कहा, मजबूत संप्रभु रूस के लिए जरूरी है कि शक्तिशाली और संतुलित नौसेना हो।'

बढ़ते तनाव में टकराव के मुद्दों पर अमेरिका और रूस में वार्ता,
वहीं, दूसरी ओर अमेरिका की रूस से रैंसमवेयर व अन्य मुद्दों पर बेशक तनाव की स्थिति बढ़ रही है, लेकिन विभिन्न मुद्दों पर वार्ता का भी दौर जारी है। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन के रूसी राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन पर हमले के बीच दोनों देशों के उप-विदेश मंत्रियों के स्तर पर कई मुद्दों पर वार्ता हुई। यह वार्ता परमाणु हथियारों के नियंत्रण से लेकर रणनीतिक मुद्दों पर केंद्रित रही।

अमेरिकी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता नेड प्राइस ने कहा कि हम हमेशा हथियारों के नियंत्रण और परमाणु खतरों को कम करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। बेशक विभिन्न मुद्दों को लेकर तनाव क्यों न बढ़ा हुआ हो। हर मुद्दे का हल वार्ता है।

यह भी पढ़ें:  रूस अफगानिस्तान में नहीं करेगा दूतावास बंद, पश्चिमी देशों ने अपने नागरिकों को काबुल से निकाला