Move to Jagran APP

तुर्किये-सीरिया में भूकंप से मारे गए लोगों का आंकड़ा 6 हजार के पार, सैकड़ों लोग अभी भी मलबे में फंसे

बचावकर्मी बड़ी सावधानी से कंक्रीट के पत्थर और लोहे की छड़ों को हटा रहे हैं ताकि मलबे में यदि कोई भी जीवित बचा हो तो उसे सुरक्षित निकाला जा सके। लोग अपने प्रियजनों की तलाश में क्षतिग्रस्त इमारतों के पास एकत्रित हो रहे हैं।

By Jagran NewsEdited By: Ashisha Singh RajputPublished: Tue, 07 Feb 2023 11:30 PM (IST)Updated: Tue, 07 Feb 2023 11:30 PM (IST)
तुर्किये के राष्ट्रपति ने अगले तीन माह के लिए 10 प्रांतों में आपातकाल की घोषणा की

अंकारा, एपी। तुर्किये और सीरिया में सोमवार तड़के आए 7.8 की तीव्रता वाले विनाशकारी भूकंप और उसके बाद भी लगे कई तेज झटकों की वजह से मृतकों का आंकड़ा 6,000 से भी ऊपर पहुंच गया है। तुर्की में मरने वालों की संख्या बढ़कर 4544 हो गई है जबकि सीरिया में भी 18032 से अधिक लोगों की भूकंप से जान गई है।

राहत एवं बचाव कार्य जारी

घायलों की संख्या भी 30,000 का आंकड़ा पार कर गई है। मृतक संख्या अभी और बढ़ सकती है। अभी भी सैकड़ों लोग मलबे में फंसे हैं। राहत एवं बचाव कार्य जारी हैं। अभी तक करीब आठ हजार लोगों को बचाया जा चुका है। उधर, तुर्किये के राष्ट्रपति तैयप एर्दोगन ने भूकंप से प्रभावित देश के 10 दक्षिणी प्रांतों में तीन माह के लिए आपातकाल घोषित किया है। साथ ही उन्होंने भूकंप प्रभावित इलाकों में राहत कार्य में तेजी लाने को कहा है।

राहत और बचाव कार्य में भीषण ठंड बन रही बाधक

बचावकर्मी बड़ी सावधानी से कंक्रीट के पत्थर और लोहे की छड़ों को हटा रहे हैं ताकि मलबे में यदि कोई भी जीवित बचा हो तो उसे सुरक्षित निकाला जा सके। लोग अपने प्रियजनों की तलाश में क्षतिग्रस्त इमारतों के पास एकत्रित हो रहे हैं। भूकंप प्रभावित क्षेत्रों के लोगों ने शा¨पग माल, स्टेडियम, मस्जिद और सामुदायिक केंद्रों में शरण ली हुई है। इसके अलावा भयभीत कुछ लोग सड़कों पर भी हैं। शून्य के आसपास मंडरा रहा तापमान व खराब मौसम बचाव कार्य में बाधा बना हुआ है।

दुनियाभर के देश कर रहे हैं मदद

भारत समेत दुनियाभर के देशों ने बचाव प्रयासों में सहायता के लिए अपने दलों को भेजा है। इस बीच, दक्षिण-पूर्व तुर्किये में भूकंप से प्रभावित एक शहर में बंदरगाह के एक हिस्से में भीषण आग लग गई। तस्वीरों में इस्कांद्रेयन बंदरगाह पर जलते हुए कंटेनर से काला धुआं उठता नजर आ रहा है। तुर्किये तटरक्षक पोत आग बुझाने के प्रयासों में जुटा है।

यह भी पढ़ें- पहले ही फंडिंग की कमी से जूझ रहे स्टार्टअप्स को लग रहा विदेशी निवेशकों की बेरुखी का डर

ये भी पढ़ें- Fact Check : ट्रेन से दिल्‍ली जाते शाहरुख खान की पुरानी तस्‍वीर अब झूठे दावे के साथ वायरल


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.