सियोल, एजेंसी। देश में चीन और रूस के वॉरप्‍लेन घुसने के साथ ही दक्षिण कोरियाई सेना सतर्क हो गई और तुरंत उचित फैसला लिया। इस क्रम में सेना ने अपने फाइटर जेट भेज द‍िए।

सीमा में घुसे 2 चीनी और 6 कोर‍ियाई वॉरप्‍लेन 

दक्षिण कोरिया ( South Korea) की सीमा में चीन के 2 और रूस के 6 वॉरप्‍लेन घुस गए। दक्षिण कोरिया की सेना ने बुधवार को यह जानकारी दी और बताया क‍ि इसके लिए देश के फाइटर जेट को रवाना कर दिया गया है।

ज्‍वाइंट चीफ ऑफ स्‍टाफ ने दी जानकारी 

दक्षिण कोरियाई समाचार एजेंसी योनहाप ने देश के ज्वाइंट चीफ ऑफ स्टाफ के हवाले से इस बारे में जानकारी दी। इसमें बताया गया क‍ि क‍ि चीन के 2 और रूस के 6 वॉरप्‍लेन बिना किसी पूर्व सूचना के दक्षिण कोरिया की हवाई सीमा में प्रवेश कर गए। उन्‍होंने इसका समय भी बताया।

ज्वाइंट चीफ ऑफ स्टाफ ने दावा किया कि चीन का H-6 बॉम्बर आज सुबह करीब 5 बजकर 50 मिनट पर दक्षिणी और उत्तरपूर्वी तटों से हवाई रक्षा क्षेत्र में घुसे और बाहर निकल गए। उन्होंने कहा, कुछ घंटे बाद ये विमान जापान सागर से हवाई रक्षा क्षेत्र में फिर से दाखिल हुए। इनमें TU-95 बॉम्बर और SU-35 फाइटर जेट सहित रूसी युद्धक विमान भी शामिल थे।

उत्तर कोरिया का अंतिम लक्ष्य दुनिया की सबसे मजबूत परमाणु शक्ति हासिल करना है- किम जोंग उन

उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग की बेटी बनेंगी उत्तराधिकारी! सार्वजनिक बैठक में साथ दिखने से लगने लगे कयास

Edited By: Monika Minal

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट