हांगकांग,एएनआइ। चीन की सेना (PLA) के पास ऐसे मिसाइले हैं जिससे वह अमेरिका को उसके ही घर में धमकी दे सकता है। इस बात का खुलासा एक रिपोर्ट में किया गया है। गुआम, जापान, सिंगापुर और दक्षिण कोरिया जैसी जगहों पर एशिया के आसपास अमेरिकी सैन्य बेस को विस्थापित करने के लिए पीपुल्स लिबरेशन आर्मी रॉकेट फोर्स (PLARF) के शस्त्रागार के भीतर मौजूद पारंपरिक मिसाइलों के माध्यम से चीन के पास ये क्षमता है।

ताइवान को पीछे हटाना (या तो जबरन या किसी दूसरे तरीके से) चीन के लिए मुख्य रणनीतिक अनिवार्यता बनी हुई है, लेकिन पीएलए भी इस तरह की प्रक्रिया में किसी भी अमेरिकी सैन्य भागीदारी को शामिल होने से रोकना चाहता है।

अध्ययन की एक रिपोर्ट में हुआ इसका जिक्र
सिडनी विश्वविद्यालय में संयुक्त राज्य अमेरिका के अध्ययन केंद्र द्वारा इस महीने में प्रकाशित, 102 पन्नों की  एवरटिंग क्राइसिस नाम की रिपोर्ट के अनुसार अमेरिकन स्ट्रैटेजी, सैन्य खर्च और इंडो-पैसिफिक में सामूहिक रक्षा" शीर्षक से यह चेतावनी दी गई कि पारंपरिक सशस्त्र बैलिस्टिक में चीन का भारी निवेश है। और क्रूज मिसाइल चीन के 'काउंटर इंटरवेंशन' प्रयासों का केंद्र बिंदु है। 

ट्रंप ने हांगकांग में थ्येन आनमन जैसी कार्रवाई को लेकर चीन को चेताया, कहा- नहीं तो...

पिछले 15 वर्षों में चीन ने किया मिसाइलों में बदलाव
रिपोर्ट ये भी कहा गया है कि पिछले 15 वर्षों में, PLA ने मिसाइलों और लॉन्चरों की अपनी सूची की रेंज को व्यवस्थित रूप से बढ़ाया, उन्नत और विस्तारित किया है, जिसे अमेरिकी सरकार ने दुनिया में सबसे सक्रिय और विविध बैलिस्टिक मिसाइल विकास कार्यक्रम कहा है।

इस मिसाइल निर्माण की सीमा इस प्रकार है कि यूएसए को अब यह चुनना होगा कि क्या एक संघर्ष (conflict) में प्रवेश करना है जो "बहुत महंगा और खतरनाक" है। वैकल्पिक रूप से यदि अमेरिका किनारे बैठता है तो यह बीजिंग को एक फतह हासिल करने की जीत का प्रस्ताव दे सकता है।

पेंटागन का अनुमान है कि PLARF वर्तमान में 1,500 तक कम दूरी की बैलिस्टिक मिसाइलों (SRBM), 450 मध्यम दूरी की बैलिस्टिक मिसाइलों (MRBM) और 160 मध्यवर्ती-रेंज बैलिस्टिक मिसाइलों (IRBM) को विकसित की है। इसके अलावा, इसके पास लंबी दूरी की जमीन से लॉन्च होने वाली क्रूज मिसाइलें भी हैं। DF-11, DF-15 और DF-16 SRBM में ताइवान और दक्षिण कोरिया के सभी क्षेत्रों को शामिल करने के लिए पर्याप्त रेंज है। इसके अलावा, चीनी मुख्य भूमि पर तैनात मोबाइल ट्रक लॉन्चर से, DF-21 MRBM से जापान के सभी हिस्सों तक पहुंच सकता है, सिवाय उत्तर और फ़िलीपीन्स के आधे से ज्यादा हिस्से को छोड़कर। 

99 साल की लीज पर चीन के हवाले किया गया था हांगकांग, जानें विवाद की पूरी कहानी...

लंबी दूरी वाली मिसाइल अमेरिका के लिए खतरा
दूसरे शब्दों में कहें तो पीएलएआरएफ अंतर-महाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइलों का सहारा लिए बिना, इन उपर्युक्त पारंपरिक मिसाइलों के साथ एशिया और पश्चिमी प्रशांत क्षेत्र में हर एक अमेरिकी बेस को धमकी दे सकता है। यूनाइटेड स्टेट्स स्टडी सेंटर दस्तावेज़ ने चेतावनी दी है कि सटीक लंबी दूरी की मिसाइलों का यह बढ़ता हुआ शस्त्रागार पश्चिमी प्रशांत में लगभग सभी अमेरिकी, संबद्ध और साझेदार ठिकानों, हवाई पट्टी, बंदरगाहों और सैन्य प्रतिष्ठानों के लिए एक बड़ा खतरा है।

दुनिया से जुड़ी बाकी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Ayushi Tyagi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस