Move to Jagran APP

Israel Hamas war: गाजा में युद्धविराम प्रस्ताव को UN की मंजूरी, बंधकों की रिहाई के बदले फलस्तीनी कैदियों को छोड़ने की योजना

Israel Hamas war गाजा में आठ महीने से जारी युद्ध के रुकने के आसार बढ़ गए हैं। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने सोमवार को गाजा में इजरायल और हमास के बीच युद्धविराम योजना का समर्थन करने वाले अपने पहले प्रस्ताव को भारी बहुमत से मंजूरी दे दी। हमास ने मंगलवार को कहा कि वह यूएन के इस प्रस्ताव को स्वीकार करने को तैयार है।

By Agency Edited By: Sonu Gupta Published: Tue, 11 Jun 2024 10:30 PM (IST)Updated: Tue, 11 Jun 2024 10:30 PM (IST)
गाजा में युद्धविराम प्रस्ताव को UN की मंजूरी। फोटोः रायटर।

एपी, संयुक्त राष्ट्र। Israel Hamas war: गाजा में आठ महीने से जारी युद्ध के रुकने के आसार बढ़ गए हैं। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने सोमवार को गाजा में इजरायल और हमास के बीच युद्धविराम योजना का समर्थन करने वाले अपने पहले प्रस्ताव को भारी बहुमत से मंजूरी दे दी। प्रस्ताव पर सुरक्षा परिषद के 15 सदस्यों में से 14 ने पक्ष में वोट किया, जबकि रूस ने मतदान में हिस्सा नहीं लिया।

UN के प्रस्ताव को स्वीकार करने को हमास तैयार

हमास ने मंगलवार को कहा कि वह यूएन के इस प्रस्ताव को स्वीकार करने को तैयार है। अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने कहा है कि हमास के रुख से युद्धविराम को लेकर उम्मीदें जगी हैं। राष्ट्रपति जो बाइडन द्वारा घोषित अमेरिका प्रायोजित प्रस्ताव की संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद से मंजूरी का अमेरिका ने स्वागत किया है। उसका कहना है कि इसे इजरायल भी स्वीकार कर लेगा।

बंधकों की रिहाई के बदले युद्धविराम की योजना

यूएन द्वारा मंजूर किए गए युद्धविराम प्रस्ताव में हमास द्वारा बंधकों की रिहाई के बदले युद्धविराम की योजना है। प्रस्ताव में चरमपंथी फलस्तीनी समूह हमास और इजरायल से तीन चरण की योजना को बिना शर्त और देरी के स्वीकार करने का आह्वान किया गया है। यूएन के भारी बहुमत के इस प्रस्ताव से दोनों पक्षों पर दबाव बढ़ गया है।

हमास को खत्म करने के लिए इजरायल प्रतिबद्ध

अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन सोमवार को इजरायल में थे। उन्होंने पीएम बेंजामिन नेतन्याहू से युद्धविराम प्रस्ताव स्वीकार करने का अनुरोध किया और कहा कि इससे हमास पर भी अंतरराष्ट्रीय दबाव बढ़ेगा। हालांकि, उस समय नेतन्याहू ने समझौते पर संदेह जताते हुए कहा कि इजरायल हमास को खत्म करने के लिए प्रतिबद्ध है। हमास ने कहा कि वह प्रस्ताव को अपनाने का स्वागत करता है और इजरायल पर दबाव डालने के लिए मध्यस्थों के साथ काम करने को तैयार है।

 इस बीच, यूएन मानवाधिकार कार्यालय ने कहा है कि हमास के कब्जे से चार बंधकों की रिहाई को लेकर की गई इजरायल की कार्रवाई में नागरिकों की मौत को युद्ध अपराध माना जा सकता है।

वार्ता जारी, अगले दो दिन में बन सकती है सहमति- ब्लिंकन

अमेरिकी विदेश मंत्री ब्लिंकन ने तेल अवीव में कहा कि युद्धविराम को लेकर मंगलवार को भी वार्ता जारी रही। उम्मीद है कि अगले दो दिनों में इस पर सहमति बन जाएगी। ब्लिंकन की अरब देशों की मौजूदा यात्रा से पहले दोनों पक्ष अपने कड़े रुख को छोड़ने को तैयार नहीं थे, लेकिन मंगलवार को हमास के वरिष्ठ नेता सामी अबू जुहरी ने कहा कि वह समझौता प्रस्ताव को स्वीकार करने को तैयार हैं, और विस्तृत योजना पर चर्चा को तैयार हैं। अब यह अमेरिका पर निर्भर है कि वह सुनिश्चित करे कि इजरायल भी इसका पालन करेगा। उन्होंने कहा कि बंधकों के बदले फलस्तीन कैदियों को छोड़ने और गाजा से इजरायली सैनिकों की वापसी का फार्मूला स्वीकार करता है।

 वेस्ट बैंक में हमास कमांडर समेत चार लड़ाकों की मौत

युद्धविराम की कोशिशों के बीच गाजा में संघर्ष जारी हैं। हमास ने कहा है वेस्ट बैंक के रामल्ला में इजरायली सेना से संघर्ष में हमास कमांडर जबेर आब्दो की तीन लड़ाकों के साथ मौत हो गई है। वहीं, इजरायल ने कहा है कि रफाह में छिपे हमास लड़ाकों की तलाश के दौरान इमरात में विस्फोट से उसके चार सैनिकों की जान गई है।

उधर, हिजबुल्ला ने उत्तरी इजरायल को निशाना बनाकर दर्जनों राकेट दागे हैं। इजरायली सेना ने मंगलवार को पुष्टि की है कि लेबनान की ओर से 50 मिसाइल दागे गए। उल्लेखनीय है कि पिछले वर्ष सात अक्टूबर को इजरायल पर हमास के हमले के जवाब में गाजा में जारी लड़ाई में 37,164 फलस्तीनियों की जान जा चुकी है, जबकि 84,832 घायल हैं। इसके अलावा 1200 से अधिक इजरायली नागरिकों की जान गई है।  

यह बी पढ़ें-

Manohar Lal Khattar: तो क्या अब बारिश में भी नहीं होगा जलभराव! मनोहर लाल ने कमान संभालते ही बनाया ये प्लान

PM Modi के बाद अब जयशंकर ने पाकिस्तान को दिया साफ शब्दों में संदेश…, चीन और मालदीव पर भी कह दी बड़ी बात


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.