वाशिंगटन, प्रेट्र। संयुक्त राष्ट्र में अमेरिकी राजदूत निक्की हेली ने कहा है कि पाकिस्तान का आतंकवादियों को सुरक्षित पनाहगाह देना अमेरिका कतई बर्दाश्त नहीं करेगा। उन्होंने भारत-प्रशांत क्षेत्र में शांति और स्थिरता बहाल रखने और आतंकवाद के खिलाफ लड़ने के लिए भारत के साथ रणनीतिक साझेदारी बनाने का भी खुले दिल से समर्थन किया।

इंडियन-अमेरिकन फ्रेंडशिप काउंसिल के 20वें सालाना सम्मेलन पर हेली ने अपने संबोधन में न्यूयार्क में हुए आतंकी हमले की कड़े शब्दों में निंदा की। उन्होंने कहा कि अमेरिका ने हाल ही में अफगानिस्तान और दक्षिण एशिया में आतंकवाद के खिलाफ युद्ध की एक नई रणनीति अपनायी है। इस नई रणनीति का एक स्तम्भ है-भारत के साथ अमेरिका की रणनीतिक साझेदारी का विकास करना।

हेली ने कहा कि अमेरिका की अफगानिस्तान और दक्षिण एशिया में रुचि का कारण आतंकवादियों के उन सुरक्षित पनाहगाहों को नष्ट करना है, जो अमेरिका के लिए खतरा हैं। साथ ही इसका मकसद परमाणु हथियारों को आतंकी संगठनों की पहुंच से दूर रखना है। इस मकसद को साधने के लिए हम सभी तत्वों राष्ट्र शक्ति, आर्थिक कूटनीति और सैन्य रुझान का इस्तेमाल कर सकते हैं।

इसलिए विशेष रूप से हम भारत के साथ आर्थिक और सुरक्षा संबंधी साझेदारी बढ़ाकर अपनी रक्षा करेंगे। हम उम्मीद करते हैं कि भारत अफगानिस्तान में आर्थिक और विकास के मोर्चो पर और सहायता करे।

यह भी पढ़ें: न्‍यूयॉर्क आतंकी हमला: आइएस से प्रभावित था हमलावर, लोगों पर चढ़ा दिया ट्रक

Posted By: Ravindra Pratap Sing

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस