कोलकाता, पीटीआई। पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद जिले में अज्ञात बदमाश ने तृणमूल कांग्रेस के नेता की हत्या कर दी है। वह जब घर लौट रहे थे उस समय अज्ञात बदमाशों द्वारा गोली मारी गई थी। गोली मारे जाने के घंटों बाद तृणमूल कांग्रेस के एक स्थानीय नेता की अस्पताल में मौत हो गई। पुलिस ने बुधवार को यह जानकारी दी कि टीमसी के स्थानीय नेता की गोली मार कर हत्या कर दी गइ है। पुलिस ने बताया कि टीमसी के स्थानीय नेता  अल्ताफ शेख की हत्या की गई है।

अल्ताफ शेख नवदापारा मदरसा के प्रधानाध्यापक थे

तृणमूल कांग्रेस के स्थानीय नेता अल्ताफ शेख नवदापारा मदरसा के प्रधानाध्यापक थे। हालांकि जब उन्हें गोली लगी थी उन्हें तुरंत अस्पताल में भर्ती कराया गया था। लेकिन सुबह इलाज के दौरान उन्होंने अस्पताल में दम तोड़ दिया था। मुर्शिदाबाद जिले के रानीनगर इलाके में मंगलवार रात करीब सवा नौ बजे उन्हें अज्ञात बदमाश ने नजदीक से गोली मारी थी।

टीएमसी से पहले सीपीआईएम में रह चुके हैं अल्ताफ

मुर्शिदाबाद जिले के एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने पीटीआई भाषा को फोन पर बताया कि 'हमने जांच शुरू कर दी है और दोषियों को पकड़ने के लिए तलाश जारी है। तृणमूल कांग्रेस पार्टी में शामिल होने से पहले अल्ताफ शेख सीपीआई (एम) के नेता रह चुके हैं। इसके बाद ही उन्होंने टीएमसी का दामन थामा था।

यह भी पढ़े- Kerala News: हत्या के प्रयास मामले में लक्षद्वीप के पूर्व सांसद को केरल HC से मिली राहत, सजा को किया निलंबित

सांसद शांतनु सेन ने हत्या के लिए विपक्षी दल को ठहराया जिम्मेदार

टीएमसी अल्ताफ शेख की हत्या होने के बाद विपक्षी दलों पर आरोप और प्रत्यारोपों का दौर शुरू हो गया है। टीएमसी के एक अन्य नेता और सांसद शांतनु सेन ने हत्या के लिए विपक्षी दल को जिम्मेदार ठहराया है। शांतनु ने कथित तौर पर कहा कि हत्या में विपक्षी दलों के शामिल होने की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता है। ऐसा इसलिए क्योंकि पंचायत चुनाव से पहले अशांति का माहौल बनाने की कोशिश की जा रही है। गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल में इस साल ग्रामीण चुनाव होने हैं।

यह भी पढ़े- CJI DY Chandrachud बोले- गणतंत्र दिवस से क्षेत्रीय भाषाओं में उपलब्ध होंगे सुप्रीम कोर्ट के फैसले

Edited By: Preeti Gupta

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट