रुद्रप्रयाग, [जेएनएन]: हवाई यात्रा के टिकटों की कालाबाजारी करने के आरोप में एसआइटी ने एक एजेंट को दबोच लिया, जबकि उसका साथी भाग खड़ा हुआ। आरोपितों ने विशाखापटनम से आए तीर्थयात्रियों के दल से हवाई सफर के किराये के अलावा 80 हजार रुपये अलग से लिए थे। गिरफ्तार एजेंट के पास से 50 हजार रुपये नकदी भी बरामद हुई है। 

हवाई टिकटों की कालाबाजारी की आशंका के मद्देनजर शासन ने रुद्रप्रयाग के एसपी प्रह्लाद नारायण मीणा के नेतृत्व में एसआइटी गठित की गई है। हरिद्वार और देहरादून के एसपी सिटी इसमें दल में बतौर सदस्य शामिल हैं। पुलिस अधीक्षक मीणा के अनुसार शिकायत मिली थी कि यूटीआर कंपनी के रुद्रप्रयाग में फाटा स्थित हेलीपैड पर यात्रियों को अधिक दाम लेकर हवाई सफर के टिकट बेचे जा रहे हैं। इस पर पुलिस ने मौके से विशाखापट्टनम निवासी एजेंट प्रतापा वेंकटा सुब्रहमण्यम को दबोच लिया, उसका एक साथी भीड़ का फायदा उठाकर फरार हो गया।

पुलिस अधीक्षक के अनुसार छानबीन में पता चला कि विशाखापटनम से 33 यात्रियों का दल केदारनाथ यात्रा पर आया था। उन्होंने एक ट्रेवल कंपनी के माध्यम से यूटीआर कंपनी के हेलीकॉप्टर के टिकट बुक कराए थे। यात्रियों के साथ आए ट्रेवल कंपनी के प्रतिनिधि पीए राजू ने उन्हें बताया कि सभी 33 यात्रियों के किराये के रूप में वह दो लाख 30 हजार रुपये अदा कर चुके हैं, लेकिन उनसे 80 हजार रुपये अलग से लिए गए। छानबीन में पता चला कि प्रतापा वेंकटा ने स्थानीय निवासी विजय सिंह राणा के मार्फत इन यात्रियों के लिए टिकट बुक कराए थे। शिकायत सही पाए जाने पर प्रतापा वेंकटा को मौके से ही गिरफ्तार कर लिया गया, जबकि उसका साथी हत्थे नहीं चढ़ा। आरोपित के कब्जे 50 हजार रुपये बरामद किए गए। 

एसपी ने बताया कि इसके मद्देनजर एजेंटों और हेली कंपनियों को भी रडार पर लिया गया है। एसपी पीएन मीणा ने बताया कि सभी हेली कंपनियों के स्तर पर की जा रही आनलाइन बुकिंग की भी जांच की जा रही है।

यह भी पढ़ें: विदेश में नौकरी दिलाने के नाम पर सवा तीन लाख ठगे

यह भी पढ़ें: ओएनजीसी में नौकरी के नाम पर छह लाख रुपये ठगे

यह भी पढ़ें: मलेशिया में नौकरी दिलाने के नाम पर युवक से लाखों की ठगी

 

Posted By: Sunil Negi