पौड़ी, जेएनएन। उत्तराखंड औद्यानिकी और वानिकी विवि प्रशासन ने छात्राओं के साथ अभद्रता करने के आरोपित एंबुलेंस चालक को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। विवि प्रशासन ने चालक को नोटिस प्राप्ति के तीन दिनों के भीतर जवाब देने को कहा है। चालक के खिलाफ छात्राओं ने विवि प्रशासन से शिकायत की थी। प्रमाण के तौर पर छात्राओं ने मोबाइल फोन पर चालक की वॉइस रिकॉर्डिंग डीन को सुनाई थी। 

छात्राओं के साथ फोन पर अभद्रता करना विवि में कार्यरत एंबुलेंस चालक को महंगा पड़ गया। विवि प्रशासन ने मामले को गंभीरता से लेते हुए चालक को कारण बताओ नोटिस दिया है। बताया गया कि चालक ने छात्राओं के साथ उस वक्त अभद्रता की थी, जब छात्राओं ने अपनी बीमार सहेली को छात्रावास से परिसर तक पहुंचाने के लिए एंबुलेंस की मांग की थी। 

आक्रोशित छात्राओं ने इसकी शिकायत परिसर के डीन से की थी। हालांकि छात्राओं ने विवि प्रशासन पर समस्याओं का निस्तारण न किए जाने का आरोप लगाया था। छात्राओं का कहना था कि विवि प्रशासन उनकी समस्याओं को अनसुना कर रहा है। छात्राओं ने विवि प्रशासन से सेशनल परीक्षा कार्यक्रम में बदलाव किए जाने की मांग भी की थी। 

भरसार परिसर के अधिष्ठाता प्रो. बीपी नौटियाल ने बताया कि छात्राओं से अभद्रता गंभीर प्रकरण है। छात्राओं की शिकायत पर एंबुलेंस चालक को कारण बताओ नोटिस भेज कर तीन दिनों के भीतर जवाब देने को कहा है। वहीं प्रो. बीपी नौटियाल ने परीक्षा कार्यक्रम में बदलाव किए जाने की संभावना से साफ इंकार है।

यह भी पढ़ें: राष्ट्रगान नहीं गाने पर पूरे स्कूल स्टाफ का वेतन रोका, पढ़िए पूरी खबर

Posted By: Raksha Panthari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप