हल्द्वानी, जेएनएन : सीएए-एनआरसी और एनपीआर के विरोध में हल्‍द्वानी के ताज चौराहे पर महिलाएं धारा 144 लगने के बावजूद रात भर धरने पर डटी रहीं। शुक्रवार सुबह भी महिलाएं धरना स्‍थल पर डटी हुई हैं। वहीं एसएसपी और सिटी मजिस्ट्रेट की मध्यस्थता में शाम से चल रही वार्ता के बाद भी धरना-प्रदर्शन समाप्त नहीं हुआ तो डीआइजी जगत राम जोशी भी पहुंच गए। उन्होंने मातहतों की मौजूदगी में बनभूलपुरा थाने में मुस्लिम समुदाय के राजनीतिक और सामाजिक संगठन से जुड़े लोगों से वार्ता की।

डीआइजी ने कहा, धरना समाप्‍त करने का मिला आश्‍वासन

डीआइजी के मुताबिक, उन्होंने रात साढ़े 10 से 11 बजे तक धरना-प्रदर्शन समाप्त करने का आश्वासन दिया। इसके बाद भी प्रदर्शनकारी धरनास्थल से नहीं हटे, तो डीआइजी फिर बनभूलपुरा थाने पहुंचे और वार्ता की। डीआइजी ने बताया कि उन्होंने देर रात तक धरना समाप्त करने का आश्वासन दिया है। उम्मीद है कि लोग घर को लौटने के साथ ही धरना-प्रदर्शन समाप्त कर देंगे। दोनों दौर की बैठकों में डीआइजी के अलावा एसएसपी सुनील कुमार मीणा, सिटी मजिस्ट्रेट प्रत्यूष सिंह, एसपी सिटी अमित श्रीवास्तव समेत प्रशासन और पुलिस के अफसर मौजूद रहे।

प्रदर्शन का आज तीसरा दिन, ताज चौराहे पर जुटने लगीं महिलाएं

धरना-प्रदर्शन के तीसरे दिन भी सुबह दस बजे से महिलाएं हल्‍द्वानी के ताज चौराहे पर जुटने लगीं हैं। दिन चढ़ने के साथ ही भीड़ में इजाफा हो रहा है। मौसम भी महिलाओं का साथ दे रहा है। धूप खिलने के कारण धरना स्‍थल पर भीड़ लगातार बढ़ रही है। बताया जा रहा है कि धरना फिलहाल शाम पांच बजे तक चलेगा। आगे की रणनीति उसके बाद तय होगी। प्रदर्शन तब तक जारी रहेगा जब तक सीएए-एनआरसी और एनपीआर वापस नहीं हो जाता। महिलाओं का ये प्रदर्शन स्‍वत: स्‍फूर्त है।

इन नारों से गूंज रहा है ताज चौराहा

जिनको पता नहीं है सीढि़यों का, वो हिसाब मांग रहे हैं पीढि़यों का, तिरंगे की बुलंदी को झुका नहीं सकता कोई, अमान अल्‍लाह हमे दुश्‍मन मिटा नहीं सकता कोई, वह तोड़ेंगे, हम जोड़ेंगे, नो एनपीआर, नो एनआरसी, तुम्‍हारी लाठी से तेज हमारी आवाज है, आई वाज बार्न इन इंडिया, आई विल डाइ इन इंडिया...जैसे तख्तियों पर लिखे नाराें वाले पोस्‍टर हाथ में लेकर महिलाएं प्रदर्शन कर रही हैं। 

पुलिस-प्रशासन मौके पर रखे हुए है सख्‍त नजर

ताज चौराहे पर महिलाओं के धरना-प्रदर्शन को देखते हुए पुलिस-प्रशासन भी मौके पर नजर रखे हुए है। किसी भी स्थिति से निपटने के लिए भारी संख्‍या में पुलिस फोर्स मौजूद है।

यह भी पढ़ें : हल्‍द्वानी में सीएए-एनआरसी के खिलाफ महिलाओं का प्रदर्शन दूसरे दिन भी जारी 

यह भी पढ़ें : निर्धारित समय सीमा तक सोनिया, राहुल और अमित शाह ने नहीं दिया संपत्ति का ब्योरा

 

Posted By: Skand Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस