लोहाघाट, जेएनएन  : लॉकडाउन के बाद पिथौरागढ़ में फंसे उत्त्तर प्रदेश के विभिन्न जिलों से आए करीब 55 मजदूर गुरुवार की सुबह पैदल ही लोहाघाट पहुंच गए। भूख और प्यास से बेहाल इन सभी मजदूरों को लोहाघाट पुलिस ने भोजन कराया। इससे पूर्व पुलिस ने सेनिटाइजर से इनके हाथ धुलवाए और कपड़ों में स्प्रे किया। लोहाघाट पुलिस के इस मानवीय वर्ताव को देखकर कई स्थानीय लोग भी भोजन बांटने में पुलिस के साथ जुट गए।

गुस्वार की सुबह लोहाघाट स्टेशन की सड़क का नजारा पुलिस के मानवीय पक्ष को उजागर करने वाला था। मौका था भूखे प्यासे दिहाड़ी मजदूरों को सामूहिक भोजन कराने का। यह सब कुछ उसी तर्ज पर हुआ जैसे गांवों में लोग शादी ब्याह व अन्य धार्मिक कार्यक्रमों पर पंक्ति में बैठकर भोजन करते हैं। अंतर इतना था मजदूरों को पंक्ति में एक-दूसरे से डेढ़ मीटर की दूरी पर बैठाया गया और भोजन देने से पूर्व उनका सेनिटाइजेशन किया गया। पुलिस ने 55 मजदूरों को केला और बिस्किट देने के अलावा दाल चावल खिलाया।

यूपी के विभिन्न स्थानों से काम के लिए आए ये सभी मजदूर गुुस्वार को पैदल ही पिथौरागढ़ से लोहाघाट पहुंचे थे। पूरे कार्यक्रम का नेतृत्व थानाध्यक्ष मनीष खत्री ने किया। पुलिस केइस कार्य को देखकर आस-पास के लोग भी अपने को नहीं रोक पाए और मजदूरों को भोजन, पानी बांटने में स्वयं भी जुट गए। पुलिस कर्मी सुभाष पांडेय, हेमंत कठायत, प्रदीप सिंह, भुवन चंद्र, देवेंद्र सिंह, अशोक पुरी, ट्रेफिक पुलिस के सिपाही संजय राणा और स्थानीय लोगों की ओर से प्रकाश ढेक, सूरज सक्सेना, डॉ. महेश ढेक, गुड्डू कन्नौजिया, पंकज ढेक आदि ने सहयोग किया।

62 किमी के सफर में चाय तक नहीं मिली मजदूरों को

पिथौरागढ़ से 62 किमी का पैदल रास्ता नापकर लोहाघाट पहुंचे बहराइच, गौंडा, बस्ती, लखीमपुर खीरी के 55 मजूदरों को लॉकडाउन के चलते रास्ते में चाय तक नसीब नहीं हुई। मजदूर मिथिलेश कुमार, पलटू राम, गोविंद, राजू कुमार, शालीग्राम, त्रिभुवन, खुशी राम, सीता राम, अजय कुमार, सुनील कुमार, राकेश, पप्पू लाल आदि ने बताया कि गाडिय़ां न मिलने से वह सुबह चार बजे ही पैदल पिथौरागढ़ से निकल गए थे और 11 बजे लोहाघाट पहुंचे। इस दौरान उन्होंने पहाड़ों के शॉर्टकट रास्तों का सहारा लिया। उन्होंने बताया कि वे पैदल ही गंतव्य को रवाना होंगे।

घायल मजदूर के पांव में पुलिस ने बांधी पट्टी

गुस्वार को पिथौरागढ़ से खाद्यान्न ला रहे ट्रक में आ रहा बहराइच निवासी मजदूर सीताराम पुत्र नन्हें राम डाले से उतरते समय घुटनों के बल नीचे गिर कर मामूली स्प से घायल हो गया। यह घटना लोहाघाट के चानमारी के पास हुई। घटना में मजदूर के दोनों पांवों के घुटने छिल गए। मजदूर लोहाघाट स्टेशन पहुंचा और उसने घटना की जानकारी दी। पुलिस ने तत्काल मेडिकल की दुकान से डिटाल आदि से घाव धोकर उसकी मरहम पट्टी कर दवाएं उपलब्ध कराई। स्थानीय लोगों ने भी घायल मजदूर की खातिरदारी की।

यह भी पढें 

भूखे-प्यासे रेलवे की पटरी पकड़कर चल दिए घर के रास्ते, मां-बाप काे सता रही चिंंता 

डॉक्टर ने परिजनों को हॉस्टल में ठहराया, जूनियर डॉक्‍टरों ने किया हंगामा 

Posted By: Skand Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस