हल्द्वानी, जेएनएन : Live Nainital Coronavirus News Update : रविवार को नैनीताल जिले में 32, ऊधमसिंहनगर में नौ, अल्मोड़ा में पांच और चंपावत जिले में कोरोना का एक और मामला सामने आया। महाराष्ट्र से नैनीताल जिले में लौटे 86 और लोगों की रिपोर्ट आ चुकी है। इसमें 32 और लोग पॉजिटिव पाए गए हैं। जबकि एक दिन पहले ही 350 लोगों में से 55 लोग एक साथ पॉजिटिव मिले थे। इन सभी को डॉ. सुशीला तिवारी राजकीय चिकित्सालय में भर्ती किया गया है। इसी के साथ ही जिले में मरीजों की संख्या 118 हो चुकी है। अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. रश्मि पंत ने बताया कि 21 मई को महाराष्ट्र से लौटे कुछ और लोगों की रिपोर्ट आनी है। 

 

अल्मोड़ा में पांच और लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव

रविवार को अल्मोड़ा जिले में कोरोना के पांच और नए मामले सामने आ गए हैं। बीती 22 मई के शेष 15 नमूनों में से 10 की जांच रिपोर्ट निगेटिव जबकि पांच पॉजिटिव आई है। इनमें दो बेस चिकित्सालय अल्मोड़ा के आइसोलेशन वार्ड, एक डीनापानी क्वारंटाइन सेंटर व एक रानीखेत चिकित्सालय में है। पॉजिटिव पाए गए तीन संक्रमित गुरुग्राम व दो महाराष्ट्र से पहाड़ लौटे थे। इनमें दो ताड़ीखेत ब्लॉक, द्वाराहाट, धौलादेवी व हवालबाग ब्लॉक से एक-एक के हैं। अल्मोड़ा के धौलादेवी निवासी समक्रमित प्रवासी महिला है। जिले में अब संक्रमितों की संख्या 12 हो गई है।

 

कुमाऊं में संक्रमितों की संख्या 191 हुई

अब तक कोरोना से बचे पहाड़ के चंपावत जिले में सात और पिथौरागढ जिले में भी दो केस सामने आ गए हैं। वहीं ऊधमसहिंनगर और अल्‍मोडा में शनिवार को तीन-तीन नए मामले सामने आने से हडकंप मचा है। अब कुमाऊं मंडल का कोई जिला कोरोना से मुक्‍त नहीं है। कुमाऊं में कुल संक्रमितों की संख्‍या 191 हो गई है। ऐसे में अब तक ऑरेंज जोन में शामिल नैनीताल जिले के रेड जोन में परिवर्तित होने की संभावना प्रबल हो गई है। बता दें कि कुमाऊं के दो जिले नैनीताल और यूएसनगर ऑरेंज जोन में शामिल हैं, जबकि चार जिले ग्रीन जोन हैं। नए मिले सभी संक्रमित प्रवासी हैं। 

नैनीताल में एक ही ट्रेन से आए थे सभी पॉजिटिव 

नैनीताल जिले में शनिवार को पॉजिटिव पाए गए सभी 57 कोरोना मरीजों में से 55 महाराष्ट्र से एक ही ट्रेन से 21 मई को हरिद्वार लौटे थे। जहां से इन्हें बसों के सहारे हल्द्वानी लाया गया था। जानकारी के अनुसार ट्रेन आए करीब चार सौ लोगों को हल्द्वानी में ही सांस्थागत क्वारंटाइन किया गया है। इनमें से करीब साढ़े तीन सौ लोगों के सैंपल लिए गए हैं। जिनमें से एक 180 लोगों की रिपोर्ट आ गई है और 55 पॉजिटिव आई है। अन्य रिपोर्ट के आने का इंतजार किया जा रहा है। अधिकारियों ने बताया कि एक साथ आने की वजह से इनमें संक्रमण फैला है। एक ही दिन में नैनीताल जिले में इतने मरीज आने से विभाग के अफसरों के हाथ पांव फूले हुए हैं।

हल्द्वानी भेजे चम्पावत में सात कोरोना मरीज

ग्रीन जोन में शामिल जनपद चम्पावत में शुक्रवार देर रात सात लोग कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। सभी को सुशीला तिवारी अस्पताल हल्द्वानी लाया गया है। टनकपुर टीआरसी व बनबसा के स्कूलों में क्वारंटाइन किए कोरोना पॉजिटिव बीते दिनों मुंबई, आंध प्रदेश, दिल्ली व गुरुग्राम से लौटे थे। गुरुवार को प्रशासन ने मुंबई, आंध्र प्रदेश, दिल्ली व गुरुग्राम 39 लोगों की स्क्रीनिंग के बाद उनके सैंपल कोरोना जांच के लिए भेजे गए थे। सीएमओ डॉ.आरपी खंडूरी ने बताया कि सभी लोगों को एहतियातन उपचार के लिए एसटीएच हल्द्वानी भेज दिया गया है।

मुंबई से लौटे थे चम्पावत के 70 लोग

जिले के एसपी लोकेश्वर सिंह ने बताया कि मुंबई से आए जो चार लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं वह सभी मुंबई से हरिद्वार ट्रेन से आए थे। जिसके बाद दो रोडवेज बसों से 70 लोगों को यूएसनगर, चम्पावत व पिथौरागढ़ लाया गया। इसमें से 12 लोग चम्पावत व 47 पिथौरागढ़ व शेष यूएसनगर के थे। तीनों जिलों को इनकी जानकारी दी गई है।

पिथौरागढ़ जिले में दो मामलों से खुला खाता

कोरोना पॉजिटिव मिला एक युवक 16 मई को बस के जरिये दिल्ली से पिथौरागढ़ पहुंचा था। उसे संस्थागत क्वारंटाइन किया गया था। 20 मई को भेजी जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। दूसरा युवक 11 मई को  गुरुग्राम से पिथौरागढ़ पहुंचा था। रात को युवक अपने घर पहुंचा। घर पर उसके माता, पिता, दादी और छोटा भाई हैं। वह जिस रात घर पहुंचा उसी रात उसे उल्टी और दस्त हुए थे। परिजनों ने इसकी सूचना चिकित्सा विभाग को दी। 12 मई को उसे संस्थागत क्वारंटाइन में रखा गया। शनिवार को रिपोर्ट पॉजिटिव मिली। युवक की उम्र 23 वर्ष है। युवक गुरु ग्राम के एक होटल में कार्य करता है। दोनों कोरोना संक्रमितों को जिला मुख्यालय स्थित बेस अस्पताल में आइसोलेट किया गया है।

राहत की बात तेजी से ठीक हो रहे कोरोना संक्रमित  

उत्तराखंड के आंकड़े देखें तो कोरोना का संक्रमण भले ही तेजी से बढ रहा हो, संक्रमितों की ठी होने की रफ्तार भी अच्छी है। अभी तक स्वस्थ हुए मरीज औसतन 17 दिन अस्पताल में भर्ती रहे और ठीक होने पर  डिस्चार्ज कर दिए गए। अपर सचिव स्वास्थ्य युगल किशोर पंत ने शिनवार को कहा भी कि अब तक कोरोना की वजह से किसी भी मरीज की मौत नहीं हुई है। उन्होंने कहा कि शुक्रवार रात को एक कोरोना पॉजिटिव मरीज की एम्स ऋषिकेश में मौत हुई लेकिन मरीज की मौत का कारण कैंसर रहा है। इससे पहले भी एक कोरोना पॉजिटिव मरीज की एम्स में मौत हुई थी लेकिन उसकी मौत का कारण भी ब्रेन स्टोक था।  

कुमाऊं में कहां कितने कोरोना संक्रमित

अल्मोड़ा              12

बागेश्वर               08

चम्पावत             08

पिथौरागढ़          02

नैनीताल             118

ऊधमसिंहनगर    43

कुल                   191

उत्तराखंड हाई कोर्ट के आदेश के बाद बढ़ी टेस्टिंग

राज्य  में आ रहे प्रवासियों खासकर रेड जोन से आ रहे , की कोरोना जांच अनिवार्य किए जाने के आदेश के सकारात्मक परिणाम सामने आए हैं। इस आदेश के बाद महाराष्ट्र से आई ट्रेन के प्रवासियों को ना केवल संस्थागत क्वारन्टाइन किया गया, बल्कि उनकी कोरोना टेस्टिंग की गई। हरिद्वार के सच्चिदानंद की जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने राज्य सरकार को निर्देश दिए है कि अन्य राज्यों से उत्तराखंड में आने वाले लोग जो रेड जोन से आ रहे हैं उन लोगों को राज्य के बॉर्डर पर संस्थागत क्वारन्टाइन किया जाए और साथ में उनकी कोरोना टेस्टिंग भी कराई जाए। साथ ही राज्य सरकार को यह भी निर्देश दिए है कि  ऐसे सभी लोग जो अन्य राज्यों से प्रदेश में आ रहे हैं लेकिन उनके अंदर किसी प्रकार के कोरोना संबंधी लक्षण पाए जाते हैं, उनको बॉर्डर पर ही एक सप्ताह का संस्थागत क्वेरेन्टीन किया जाए और निगेटिव रिपोर्ट आने पर ही राज्य में आगे जाने दिया जाय।

मामले में अगली सुनवाई 2 जून को नियत 

इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च आईसीएमआर ने ही कोर्ट को बताया था कि एलिजा टेस्ट किट व  आरटीसीटीपी किट जल्द राज्यों को उपलब्ध कराए जा रहे हैं।  न्यायमूर्ति  सुधांशु धूलिया व न्यायमूर्ति रविंद्र मैथानी की खंडपीठ में मामले की अगली सुनवाई 2 जून की तिथि नियत की है। हरिद्वार निवासी सच्चिदानंद डबराल की जनहित याचिका में कहा गया है कि उत्तराखंड में आने वाले प्रवासियों  की कोरोना वायरस की जाँच बॉर्डर पर ही की जाय और उनकी सहायता की जाय और उनके खाने पीने की भी उचित व्यवस्था की जाय ,जिससे कि वायरस को फैलने से रोका जा सके। शनिवार  को नैनीताल जिले में एक साथ कोरोना के 55 सैंपल की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद स्वास्थ्य विभाग में इस बात का संतोष है कि प्रवासियों को सीधे क्वारन्टीन किया गया था। टेस्टिंग बढ़ने से महामारी का गांव में खतरा भी कम होगा।

बाहर का खाना ऑर्डर करने से डर रहे लोग, रेस्‍टोरेंट में भी महज कन्फेक्शनरी आइटम मांग रहे 

नेपाल ने भारतीय सीमा से सटे जुल्लाघाट में बीओपी का किया उद्घाटन 

Posted By: Skand Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस