अल्मोड़ा, जेएनएन : बीएसएनएल ने  27 व 28 अक्टूबर को लैंडलाइन से की जाने वाली कॉल निश्शुल्क की है। वहीं होली पर्व तक पहाड़ के अछूते इलाकों में बीएसएनएल की फोर-जी सेवा मिलने लगेगी। अल्मोड़ा के साथ ही बागेश्वर, पिथौरागढ़ व लोहाघाट में टावरों की संख्या व क्षमता बढ़ाने का काम मार्च तक पूरा कर लिया जाएगा। फिलहाल 32 टॉवर ही काम कर रहे। संख्या बढऩे से बीएसएनएल की कनेक्टिविटी को तरस रहे दूरस्थ इलाकों में फोन घनघनाने लगेंगे।

चार जनपदों के बीएसएनएल मुख्यालय में शनिवार को जीएम अनिल गुप्ता ने पत्रकार वार्ता मेें कहा, प्रधानमंत्री की कैबिनेट ने दूरसंचार क्षेत्र में बीएसएनएल को खासा महत्व दिया है। फोर-जी अपेक्ट्रम का आवंटन, लंबी अवधि के 15 हजार करोड़ के कांड जारी करने की अनुमति, कर्मचारियों के लिए स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति योजना के अनुमोदन आदि कई निर्णय लिए गए हैं। इससे काफी बदलाव आएंगे। अल्मोड़ा एसएसए में सभी जगहों पर जल्द फोर-जी सेवा शुरू की जाएगी। कनेक्टिविटी सुधार व क्षतिग्रस्त ओएफसी केबल बदलने का काम भी प्राथमिकता से किया जा रहा है।

अल्मोड़ा नगर में हाईस्पीड कनेक्शन

जीएम के अनुसार फाइबर टू द होम (एफटीटीएच) सेवा अल्मोड़ा नगर में शुरू की जा चुकी है। 10 हाईस्पीड कनेक्शन (50 व 100 एमबीपीएस) ने काम करना शुरू कर दिया है। रानीखेत में वाई फाई तकनीक पर वायरलेस ब्रॉडबैंड सेवा शुरू कर दी है। इसमें 10 एमबीपीएस की गति से इंटरनेट सेवा मिलती है।

दूर गांवों में वायरलेस ब्रॉड बैंड जल्द

जीएम ने कहा, पिथौरागढ़, लोहाघाट, चम्पावत व द्वाराहाट में एफटीटीएच तथा चम्पावत, अल्मोड़ा व बागेश्वर में वायरलेस ब्रॉड बैंड सेवा के प्रस्ताव मिल गए हैं। वहीं ऑप्टिकल फाइबर पर उच्च गति की इंटरनेट सेवा सभी स्थानों पर मुहैया करा सकेंगे। जिन ग्रामीण क्षेत्रों में ओएफसी या केबल उपलब्ध नहीं होगी, वहां वायरलेस ब्रॉडबैंड सेवा देेंगे। उन्होंने कहा कि उपभोक्ताओं की मांग को देखते हुए कोई भी कंपनी, भागीदार फर्म या व्यक्ति बीएसएनएल से अनुबंध कर जिले के किसी भी क्षेत्र में ब्रॉडबैंड सेवा दे सकता है। 

ओएफसी लाइन कटने से बाधा आ रही

मौजूदा वित्तीय हालात के कारण बीते तीन चार माह से बाधाएं आ रही हैं। माना कि अन्य निर्माण एजेंसियों के बार बार ओएफसी लाइन क्षतिग्रस्त कर दिए जाने, ठेकेदारों के अनुबंध न बढ़ाने आदि के कारण कई स्थानों पर बीएसएनएल सेवाओं में व्यवधान आ रहा। इसके बावजूद बेहतर सेवा के प्रयास किए जा रहे। इस दौरान डीजीएम (वित्त) प्रेमदास व एजीएम एमसी तिवारी भी मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें : दीपावली पर बागेश्वर जिले को मिली सौगात, बिजली कटौती से मिलेगी मुक्ति

Posted By: Skand Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस