हल्द्वानी, [जेएनएन]: वन मंत्री हरक सिंह रावत ने कहा कि जसपुर से नजीमाबाद के पास 76 गांवों को उत्तराखंड में शामिल करने के लिए उत्तरप्रदेश से बातचीत चल रही है। इस संबंध में उनकी कल ही यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से वार्ता हुई। 

उन्होंने बताया कि वार्ता के दौरान यह बात मजबूती से रखी है कि इन गांव में ज्यादातर उत्तराखंड के लोग निवास करते हैं। इसे देखते हुए इन गांवों को उत्तराखंड में शामिल करना जरूरी है। 

यहां एफटीआई में आयोजित ईको पर्यटन कार्यशाला में बतौर मुख्य अतिथि हरक सिंह रावत ने कहा कि हमारे पास पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए बहुत कुछ है। यहां 70 फीसद जंगल और खनन भूमि है। खनन और आबकारी के साथ पर्यटन से प्रदेश को समृद्ध बनाया जा सकता है। इसके लिए सरकार तो काम कर ही रही है। साथ ही पर्यटन को आगे ले जाने के लिए वन विभाग की भूमिका अहम है। 

इस मौके पर कालाढूंगी विधायक बंशीधर भगत, लालकुआं विधायक नवीन दुमका सहित वन विभाग के तमाम उच्चाधिकारी मौजूद रहे। इससे पहले पारिस्थितिकी पर्यटन कार्यशाला का शुभारंभ वन व पर्यावरण मंत्री हरक सिंह रावत, प्रमुख वन संरक्षक डीबीएस खाती, विधायक लालकुआं नवीन दुम्का, विधायक कालाढूंगी बंशीधर भगत ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया। 

यह भी पढ़ें: निर्वाचित संस्थाएं भंग करने की भाजपा रच रही साजिश: इंदिरा

यह भी पढ़ें: तो इसलिए अब भाजपा के विरोध में कांग्रेस उतरेगी सड़क पर 

यह भी पढ़ें: बदरीनाथ पहुंची सीएम की रेल, टिकट काउंटर खोलना बाकीः हरीश रावत

Posted By: Bhanu