रामनगर, जेएनएन : रामनगर के जस्सगांजा गांव में उपखनिज लेकर जा रहे डंपर ने स्कूटी सवार ससुर और बहू को टक्‍कर मार दी। हादसे में ससुर की माैके पर ही मौत हो गई। हादसे के दौरान मौके पर लोगों की भीड़ लग गई। आनन-फानन में घायल बहू को अस्‍पताल भेजा गया। घटना के बाद से स्‍थानीय लोगों में खासा रोष है। आबादी में डंपर के संचालन पर लोगों ने पूरी तरह से प्रतिबंध लगाने की मांग की है।

जस्सगांजा निवासी पान सिंह अपनी बहू प्रीति के साथ बाजार से घर जा रहे थे। गांव में ही अचानक सामने से आ रहे डंपर ने स्कूटी को टक्कर मार दी। आदसे में पान सिंह ने मौके पर ही दम तोड़ दिया। जबकि प्रीति गंभीर रूप से घायल हो गई। घटना से नाराज जस्सगांजा गांव के प्रधान प्रतिनिधि महरा ने कोतवाली पहुंचकर हंगामा किया। रोते हुए उसने गांव में डंपरों की वजह से हो रही लोगों की मौत पर रोष जताया। बमुश्किल कोतवाल रवि सैनी ने उसे समझाया। हालांकि इस दौरान कोतवाली में वार्षिक मुआयना के लिए पहुंचे एसएसपी ने प्रधान से बात तक नहीं की। प्रधान के जाते ही एसएसपी कोतवाली से निकल गए। प्रधान ने दोबारा कोतवाली आकर एसएसपी को मिलने के लिए कहा। दस मिनट बाद एसएसपी दोबारा कोतवाली आए। प्रधान ने उन्हें बन्द कमरे में अपने बयान दर्ज कराए।

यह भी पढ़ें : पति ने दोस्‍त के साथ मिलकर गला घोंटने के बाद जला दिया था पत्‍नी को 

यह भी पढ़ें : आइएफएस संजीव चतुर्वेदी ने दिन रात एक कर तैयार की डीएफओ के भ्रष्‍टाचार की रिपोर्ट, शासन को हटाने में लग गए दो साल

Posted By: Skand Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस