रुड़की, हरिद्वार [जेएनएन]: भगवानपुर क्षेत्र के शाहपुर गांव निवासी एक युवक की डेंगू से मौत हो गई है। युवक का उपचार मेरठ के एक अस्पताल में चल रहा था।

भगवानपुर क्षेत्र के शाहपुर गांव निवासी आत्माराम पिछले एक सप्ताह से बुखार से पीड़ित था। पहले उसका उपचार एक स्थानीय अस्पताल में चल किया जा रहा था। जांच में डेंगू की पुष्टि हुई थी। हालत बिगड़ने पर मंगलवार को उसे उपचार के लिए मेरठ ले जाया गया। जहां बुधवार को उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। 

मृतक के भाई देवी प्रसाद ने बताया कि आत्माराम कई दिनों से बुखार से पीड़ि‍त था। जांच कराने पर चिकित्सकों ने डेंगू बताया था। उपचार के दौरान मेरठ में उसकी मौत हो गई। बतादें कि शहर और देहात क्षेत्र में डेंगू का प्रकोप बढ़ता जा रहा है। सबसे ज्यादा पाडली गुर्जर ग्राम पंचायत में डेंगू के मामले सामने आ रहे हैं। सिविल अस्पताल रुड़की में डेंगू के पांच मरीज भर्ती हैं। जबकि प्राइवेट अस्पताल में भी कुछ मरीज भर्ती हैं। 

दिन प्रतिदिन बढ़ रहा डेंगू का प्रकोप

शहर में डेंगू का प्रकोप दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है। पाडली गुर्जर गांव में तो हालात ज्यादा ही खराब हैं। सिविल अस्पताल रुड़की में डेंगू के पांच मरीज भर्ती किए गए हैं। यह सभी मरीज पाडली गुर्जर गांव के हैं। इसके अलावा सात मरीज निजी अस्पताल में भर्ती हैं। मरीजों की हालत खतरे से बाहर है। शहर और देहात क्षेत्र में डेंगू का प्रकोप लगातार बढ़ता जा रहा है। इसमें पाडली गुर्जर गांव में स्थिति ज्यादा ही भयावह हो गई है। पाडली गुर्जर गांव के पांच और लोगों में डेंगू की पुष्टि हुई है। इन सभी को सिविल अस्पताल रुड़की में भर्ती कराया गया है। इनका उपचार चल रहा है। सभी की हालत खतरे से बाहर है। जिला मलेरिया अधिकारी डॉ. गुरनाम सिंह ने बताया कि मरीजों के ब्लड सैंपल लेकर उन्हें एलाइजा जांच के लिए हरिद्वार भेजा गया है। वहीं, सात मरीजों का उपचार शहर के एक निजी अस्पताल में चल रहा है। जबकि एक युवती की गंभीर हालत को देखते हुए उसे देहरादून रेफर किया गया है। 

यह भी पढ़ें: दो और मरीजों में डेंगू, प्रदेश में इलाज कराने वालों का होगा डाटा

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड को डेंगू के लिए पर्याप्त सहायता उपलब्ध कराए केंद्र: हार्इकोर्ट