जागरण संवाददाता, हरिद्वार। हरिद्वार की महापौर अनिता शर्मा ने रोशनाबाद स्थित हाकी खिलाड़ी वंदना कटारिया के आवास पर पहुंचकर उन्हें और उनके स्वजन को शाल ओढ़ाकर सम्मानित किया। महापौर ने कहा कि प्रदेश सरकार की ओर से वंदना को सम्मान स्वरूप जो 25 लाख रुपये का चेक दिया गया है वह बेटी के सम्मान में कम धनराशि है। उन्होंने इसे बढ़ाकर एक करोड़ रुपये करने और वंदना को आवास की सुविधा देने की मांग की।

इस अवसर पर महापौर ने कहा कि हरिद्वार की बेटी ने देश प्रदेश में धर्मनगरी का नाम रोशन किया है। ओलिंपिक में हैट्रिक लगाना पूरे देश के लिए गर्व की बात है। कहा बेटियां, अब बेटों से किसी भी क्षेत्र में कम नहीं हैं। युवाओं को उनसे प्रेरणा लेनी चाहिए। पढ़ाई के साथ ही खेल में भी युवाओं को आगे आना चाहिए। वंदना कटारिया ने साबित कर दिया कि खेल में भी युवा अपना भविष्य बना सकते हैं। कांग्रेस अनुसूचित विभाग के जिलाध्यक्ष सुनील कुमार ने कहा कि दलित की बेटी ने देश और प्रदेश में भारत का नाम रोशन किया है। वंदना ने कहा कि वह इसी प्रकार आगे भी खेलकर देश का नाम रोशन करेंगी।

रेलकर्मियों ने की हाकी एकेडमी बनाने की मांग

हरिद्वार रेलवे स्टेशन पर चेकिंग स्टाफ की ओर से स्टेशन के रेनबसेरे में आयोजित कार्यक्रम में वंदना कटारिया का स्वागत किया गया। रेलकर्मियों ने हाकी को बढ़ावा देने के लिए हरिद्वार में एक हाकी एकेडमी बनाने का अनुरोध किया।

सीएम ने वंदना को सौंपा 25 लाख रुपये का चेक

वहीं, मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने बीते गुरुवार को वंदना कटारिया के रोशनाबाद स्थित आवास पर पहुंचकर टोक्यो ओलिंपिक में शानदार प्रदर्शन के लिए उन्हें बधाई और शुभकामनाएं दी। पुष्पगुच्छ देकर और शाल ओढ़ाकर वंदना को सम्मानित किया। साथ ही सम्मान स्वरूप 25 लाख रुपये का चेक सौंपा। इसके अलावा वंदना को मिले तीलू रौतेली पुरस्कार के तहत 31 हजार रुपये का चेक, प्रशस्ति पत्र और स्मृति चिह्न भी भेंट किया।

यह भी पढ़ें- एयरपोर्ट पर पापा को मिस करते हुए वंदना बोलीं, मना करने पर भी आ जाते थे लेने; घर पहुंचने पर कैसे खुद को संभालूंगी

Edited By: Raksha Panthri