संवाद सूत्र, लंढौरा।संवाद सूत्र, लंढौरा। हरिद्वार जिले के लंढौरा कस्बे में एक महिला का आक्सीजन लेबल अचानक कम हो गया, जिससे उसकी की तबीयत बिगड़ गई। इसकी खबर लगते ही पुलिस ने तुरंत महिला को आक्सीजन सिलिंडर उपलब्ध कराया और उसकी जान बचाई।  

लंढौरा कस्बे के मोहल्ला बाहर किला निवासी मेहराज (50 वर्ष) की तबीयत तीन दिन से खराब चल रही थी। महिला का घर पर ही इलाज चल रहा था। रविवार की सुबह अचानक ही महिला को सांस लेने में परेशानी होने लगी, जिससे परिवार के सदस्यों के हाथ पांव फूल गये। स्वजन ने जांच की तो पता चला कि आक्सीजन लेबल कम हो गया है। स्वजन ने आननफानन में इसकी सूचना नगर पंचायत के वार्ड सभासद के पति याकूब अली को दी। पहले तो उन्होंने अपने स्तर से ऑक्सीजन सिलिंडर मेहराज को उपलब्ध कराने का प्रयास किया, लेकिन जब उन्हें कहीं भी आक्सीजन सिलिंडर नहीं मिला तो उन्होंने इसकी सूचना कस्बा पुलिस चौकी प्रभारी संजय कुमार गौड को दी। 

चौकी प्रभारी ने तुरंत ही जैसे तैसे कर महिला के लिए आक्सीजन सिलिंडर उपलब्ध कराया। तत्काल ऑक्सीजन सिलेंडर उपलब्ध कराया। समय से महिला को आक्सीजन मिलने से उसकी जान बच गई। मेहराज के स्वजन ने पुलिस चौकी प्रभारी का अभार जताया। चौकी प्रभारी संजय कुमार गौड का कहना है कि जिस किसी को भी आपातकालीन स्थिति में आक्सीजन की जरूरत होगी तो उसे उपलब्ध कराई जाएगी।

यह भी पढ़ें- उत्तराखंड सरकार सख्त, सोमवार से सीमाएं सील करने की तैयारी; लिए जा सकते हैं कई कड़े फैसले

ग्रामीणों को सैनिटाइजर  व मास्क वितरित किए

लालढांग: समाजसेवी जानकी नौटियाल ने गाजीवाली गांव में ग्रामीणों को अपनी ओर से मास्क और सैनिटाइजर के साथ फल भी वितरित किए। उन्होंने ग्रामीणों से दो गज दूरी और मास्क जरूरी पहनने की अपील की। कोरोना संक्रमण के दौर में जनप्रतिनिधि भी अपने घरों में कैद होकर रह गए हैं । ऐसे में गरीब तबके के आमजन को रोजमर्रा का खर्चा वहन करने में भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है, जिसको देखते हुए समाज सेविका जानकी नौटियाल ने अपने स्तर से गाजीवाली गांव में ग्रामीणों को मास्क, सैनिटाइजर  और फल का वितरण कराया। 

यह भी पढ़ें- HIGHLIGHTS Uttarakhand COVID 19 Cases News: उत्तराखंड में कोरोना के 8390 मामले, 118 संक्रमितों की हुई मौत

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

Edited By: Sumit Kumar