रुड़की, जेएनएन। बीती रात 12 बजे तक परचून की दुकान खोलने और आठ बजे तक डेयरी खोलने वाले तीन लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इनके खिलाफ लॉकडाउन उल्लंघन का मुकदमा दर्ज किया गया है। पुलिस ने बाद में इन सबको मुचलके पर छोड़ दिया।

पुलिस लॉकडाउन के दौरान लोगों को लॉकडाउन का उल्लंघन न करने को लेकर जागरूक कर रही है। वहीं कुछ लोग पुलिस को चकमा देने के लिए अब देर रात प्रतिष्ठान खोल रहे हैं। रविवार रात को करीब आठ बजे आजादनगर चौक पर एक डेयरी खुली हुई थी। जिस पर दूध और अन्य सामान खरीदने के लिए भीड़ लगी थी। वहां पर शारीरिक दूरी का भी पालन नहीं किया जा रहा था। सूचना पर एसएसआइ देवराज शर्मा मौके पर पहुंचे और छापा मारा। पुलिस को देखते ही मौके पर हड़कंप मच गया, लोग वहां से भाग निकले। पुलिस ने डेयरी संचालक को गिरफ्तार कर लिया।

एसएसआइ देवराज ने बताया कि डेयरी संचालक सजरे आलम निवासी नगला कुबड़ा पर मुकदमा दर्ज किया गया है, जिसे बाद में मुचचके पर छोड़ दिया गया। एसएसआइ ने बताया कि रामपुर चुंगी पर भी रविवार रात 12 बजे परचून की दो दुकान खुलने की सूचना मिली। जिस पर एसआइ नितेश शर्मा ने मौके पर जाकर छापा मारा। पुलिस को रामपुर गांव के पास अलग-अलग जगहों पर राजीव और मुबारिक दुकान खोले हुए मिले। बताया कि इन पर भी लॉकडाउन उल्लंघन का मुकदमा दर्ज कर लिया।

निर्धारित समय से पहले ही दुकानों के शटर डाउन कर रहे व्‍यापारी

लॉकडाउन में सरकार की ओर से कारोबारियों को सुबह सात से शाम चार बजे तक सभी दुकानें खोलने की अनुमति दी गई है। लेकिन, भीषण गर्मी के कारण दोपहर में ग्राहक बाजारों का रुख नहीं कर रहे हैं। ऐसे में कई व्यापारी निर्धारित समय से पहले ही दुकानों के शटर डाउन कर रहे हैं।

शहर और आसपास के क्षेत्रों में पिछले सप्ताह से भीषण गर्मी पड़ रही है। सुबह से ही आसमान में तेज धूप निकल रही है। जबकि, दोपहर में चिलचिलाती धूप लोगों का खूब पसीना निकाल रही है। उधर, लॉकडाउन में सरकार की ओर से बाजार खुलने का समय सुबह सात बजे से लेकर शाम चार बजे तक निर्धारित किया गया है, लेकिन लॉकडाउन में गिनती के ही ग्राहक आ रहे हैं। 

वहीं गर्मी दिनोंदिन बढ़ती ही जा रही है। इसके चलते दोपहर एक बजे के बाद अधिकांश लोग घरों से बाहर नहीं निकल रहे हैं। इसके चलते सिविल लाइंस, मेन बाजार, बीटी गंज, अनाज मंडी समेत अन्य बाजारों में कई दुकानदार दोपहर दो बजे के बाद ही दुकानों के शटर डाउन कर रहे हैं। प्रांतीय उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल के जिलाध्यक्ष सौरभ भूषण शर्मा ने बताया कि लॉकडाउन की वजह से पहले ही बाजार में गिने-चुने ग्राहक आ रहे हैं। वहीं गर्मी का प्रकोप भी बढ़ता जा रहा है। ऐसे में दोपहर एक बजे के बाद ग्राहक बिलकुल नहीं आ रहे हैं। 

कई दुकानदारों की ओर से इस तरह की जानकारी उन्हें दी जा रही है। उन्होंने बताया कि इस वजह से कई व्यापारी मांग कर रहे हैं कि सुबह 10 से लेकर शाम सात बजे तक दुकानें खोलने की अनुमति दी जाए ताकि भीषण गर्मी के कारण जो लोग बाजार नहीं आ रहे हैं वे शाम को खरीददारी के लिए आ सकें।

रविवार की रात मंगलौर में खुले रहे बाजार

मंगलौर कस्बे में रविवार रात लॉकडाउन की जमकर धज्जियां उड़ी। देर रात तक बाजार खुले रहे। लॉकडाउन-4 में शर्तो के साथ कुछ ढील दी गई है। इसके तहत सुबह सात से लेकर शाम के चार बजे तक दुकान खोली जानी हैं। इस दौरान सबको शारीरिक दूरी का पालन करते हुए खरीददारी करनी होगी। शाम के सात बजे से लेकर सुबह के सात बजे तक कफ्यरू रहता है। 

बावजूद इसके मंगलौर में रविवार रात इन नियमों की जमकर धज्जियां उड़ी। अधिकांश दुकानदार तो शाम चार बजे ही दुकानें बंद कर चले गए। लेकिन, कई दुकानदारों ने रात के 12 बजे तक दुकानें खुली रखी। कस्बे के कुछ लोगों ने पुलिस एवं प्रशासन से शिकायत भी की, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई। इस संबंध में पुलिस अधीक्षक देहात स्वप्न किशोर सिंह ने बताया कि मामला संज्ञान में नहीं है। यदि ऐसा है तो कार्रवाई की जाएगी।

 बिना मास्क, ट्र‍िपल राइडिंग में 56 चालान, चार वाहन सीज

बिना मास्क बाजारों में खरीददारी करने आए लोगों और ट्र‍िपल राइडिंग करने वालों के पुलिस ने चालान किए। पुलिस ने दिनभर में ऐसे 56 लोगों के नकद चालान किए। रविवार देर शाम भगवानपुर कस्बे में दुकान खोलने पर पुलिस ने कार्रवाई करते हुए पिंटू शर्मा निवासी भगवानपुर और शहलूम निवासी शाहपुर पर मुकदमा दर्ज किया। वहीं पुलिस ने मास्क नहीं लगाने पर 13 लोगों के दो-दो सौ रुपये के नकद चालान किए। वहीं ट्र‍िपल राइडिाग पर 16 वाहनों के चालान किए गए। रुड़की पुलिस ने बिना मास्क बाजारों में खरीददारी करने पर 17 लोगों के दो-दो सौ रुपये के चालान किए।

यह भी पढ़ें: कांग्रेस नेता ने बिना अनुमति क्वारंटाइन सेंटर में प्रवासियों को बांटे केले, मुकदमा दर्ज

28 मई तक लू चलने की संभावना, बढ़ेगी गर्मी

शहर और आसपास के क्षेत्रों में लोगों को सोमवार को आग उगलती गर्मी ङोलनी पड़ी। चिलचिलाती धूप और लू के थपेड़ों ने लोगों का दिनभर हाल बेहाल किए रखा। सोमवार को शहर का अधिकतम तापमान 40.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। जबकि न्यूनतम तापमान 23.6 डिग्री सेल्सियस रेकॉर्ड हुआ। उधर, आइआइटी रुड़की के जल संसाधन विकास एवं प्रबंधन विभाग में संचालित ग्रामीण कृषि मौसम सेवा परियोजना से मिली जानकारी के अनुसार 28 मई तक पंजाब से लेकर हरियाणा, राजस्थान, दिल्ली-एनसीआर, उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में भीषण लू चलने की संभावना है। जबकि 29 से 31 मई के बीच समूचे उत्तर भारत में बारिश होने का पूर्वानुमान है। जबकि कुछ जगहों पर भारी बारिश हो सकती है।

यह भी पढ़ें: Coronavirus: बाहर से आ रहे लोग पुलिस को दे रहे गलत जानकारी, होगा मुकदमा Dehradun News

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021