जागण संवाददता, रुड़की। फिल्मी स्टाइल में घर से प्रेमी के दोस्तों के साथ फरार हुई किशोरी को एक महिला ने 20 हजार रुपये में बेच दिया। पुलिस ने किशोरी को लुधियाना से बरामद करते हुए इस मामले में शामिल सभी छह आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया। फरार महिला की तलाश की जा रही है।

सोमवार को सिविल लाइंस कोतवाली में आयोजित पत्रकार वार्ता में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सेंथिल अवुदई कृष्ण राज एस ने बताया कि झबरेड़ा क्षेत्र निवासी एक दिव्यांग व्यक्ति की 14 वर्षीय बेटी 26 मई को लापता हो गई थी। 27 मई को पुलिस ने गुमशुदगी दर्ज की थी। पुलिस ने छानबीन की तो पता चला कि किशोरी को झबरेड़ा निवासी गुड्डू और मंगल उसे साथ ले गये है। शनिवार को पुलिस ने दोनों को हिरासत में लिया। पूछताछ में पता चला कि किशोरी का तस्लीम से प्रेम प्रसंग है। तस्लीम इस समय महाराष्ट्र में एक गुड बनाने की चर्खी में काम करता है। तनवीर का झबरेड़ा निवासी दोस्त सारिक महाराष्ट्र आता रहता है। तनवीर के कहने पर ही वह देवबंद में सारिक के पास किशोरी को छोड़कर आये थे। पुलिस ने इसके बाद सारिक को भी पकड़ लिया।

सारिक ने पुलिस को बताया कि वह किशोरी को महाराष्ट ले जाने के लिए दिल्ली जरूर ले गया था, लेकिन वहां जाने पर किशोरी को मन बदल गया और वह घर जाने की बात कहने लगी। इसके चलते उसने किशोरी को दिल्ली में रेलवे स्टेशन पर छोड़ दिया था। इसके बाद उसे कुछ पता नहीं। इसके बाद पुलिस की टीम दिल्ली रेलवे स्टेशन पर पहुंची। पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज खंगाली तो उसमें एक महिला उसे अपने साथ ट्रेन में ले जाते दिखी। जिन स्टेशनों पर ट्रेन रुकी उन सभी जगहों की पुलिस ने सीसी फुटेज खंगाली। मुजफ्फरनगर रेलवे स्टेशन पर लगे कैमरे में एक महिला किशोरी को लाते दिखी, जिसके बाद पुलिस सर्विलांस की मदद से महिला के घर पहुंच गई।

पुलिस ने घर पर मौजूद महिला के पति नरेश को गिरफ्तार कर लिया। नरेश ने बताया कि वह होमगार्ड में तैनात है। आरोपित ने बताया कि अपने रिश्तेदार संदीप निवासी सैद नगला थाना चरथावल जिला मुजफ्फरनगर हाल निवासी न्यू प्रताप नगर गली नंबर 7 थाना डुमरी जिला लुधियाना पंजाब के हाथ किशोरी को 20 हजार में बेचा है। पुलिस ने नरेश को गिरफ्तार कर लिया। एसएसपी ने बताया कि पुलिस ने रविवार को लुधियाना से किशोरी को बरामद करते हुए संदीप को भी गिरफ्तार कर लिया। एसएसपी ने बताया कि इस मामले में सभी छह आरोपित गिरफ्तार किये गये। जबकि होमगार्ड की पत्नी अभी फरार है।

उधार चुकाने को कर दिया रिश्तेदार से सौदा

एसएसपी ने बताया कि नरेश ने अपने साले से 20 हजार रुपये का उधार लिया था। वह उधार की रकम चुका नहीं पा रहा था। इसलिए उसने किशोरी की शादी संदीप से कराने का सौदा किया। इसके एवज में संदीप ने 20 हजार रुपये का कर्ज माफ कर दिया।

पुलिस न दिखाती सतर्कता तो घर वापस न आ पाती किशोरी

महिला ने घर आते ही किशोरी का मोबाइल जब्त कर लिया था, जिसके चलते वह अपने घरवालों से संपर्क नहीं करथ रही थी। किशोरी दूसरे समुदाय की थी, जबकि सुमन ने उसकी शादी दूसरे समुदाय में कराकर उसका नाम भी बदल दिया था।

यह भी पढ़ें-Dehradun Crime News: देहरादून में खुद को सैन्य अधिकारी बताकर 40 हजार रुपये ठगे

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

Edited By: Sunil Negi