जागरण संवाददाता, हरिद्वार। रानीपुर और ज्वालापुर कोतवाली क्षेत्र से एक ही रात में दो ईको स्पोर्ट कार की चोरियों में दिल्ली का शातिर प्रमोद गैंग निकलकर सामने आया है। आन डिमांड लग्जरी कार चोरी करने वाले इस गैंग के तीन सदस्यों को पुलिस व एसओजी की टीम ने गिरफ्तार कर दोनों गाडिय़ां भी बरामद कर ली हैं। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डा. योगेंद्र ङ्क्षसह रावत ने जिला पुलिस मुख्यालय पर पत्रकार वार्ता कर दोनों घटनाओं का पर्दाफाश किया।

शहर में चार दिन पहले ज्वालापुर के विवेक विहार और रानीपुर क्षेत्र के शिवालिकनगर क्षेत्र से एक ही रात में दो ईको स्पोर्ट कार चोरी हो गई थी। दोनों कोतवालियों में अलग-अलग मुकदमे दर्ज होने के बाद एसएसपी ने रानीपुर कोतवाल कुंदन राणा, ज्वालापुर कोतवाल चंद्र चंद्राकर नैथानी और एसओजी प्रभारी रणजीत तोमर के नेतृत्व में पुलिस टीमों का गठन किया था। पुराने वाहन चोरों की कुंडली खंगालने के बाद पुलिस ने आरोपितों की धरपकड़ के लिए जाल बिछाया। अहम सुराग हाथ लगने पर मंगलवार रात को पुलिस टीम ने धीरवाली क्षेत्र के बैरियर नंबर पांच पर चेकिंग के दौरान पीछा कर संदीप उर्फ कल्लू और अरविंद निवासी मंगोलपुरी थाना राजपार्क दिल्ली व सतीश निवासी गांव आसफनगर कोतवाली मंगलौर को पकड़ लिया। उनकी निशानदेही पर बहादराबाद से दोनों कारें बरामद कर ली गईं।

एसएसपी डा. योगेंद्र सिंह रावत ने बताया कि गैंग का सरगना प्रमोद निवासी मंगोलपुरी दिल्ली पेशे से कार मैकेनिक है और लग्जरी गाड़ियों का सेंट्रल लॉक तोड़कर ईसीएम कोड बदलने में माहिर है। दिल्ली से संचालित यह शातिर गिरोह दिल्ली, उत्तर प्रदेश, बिहार आदि राज्यों में आन डिमांड लग्जरी कारें चोरी करता है। सरगना प्रमोद को भी जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा। इस दौरान एसपी सिटी कमलेश उपाध्याय, एसपी देहात प्रमेंद्र डोबाल, एएसपी सदर डा. विशाखा अशोक, सीओ ज्वालापुर रेखा यादव आदि मौजूद रहे।

एसओजी प्रभारी की सूझबूझ से हाथ आया गैंग

दोनों घटनाओं को जितनी सफाई से अंजाम दिया गया था, उससे साफ था कि किसी शातिर गिरोह ने कार चोरी की हैं। एसओजी प्रभारी रणजीत तोमर ने सूझबूझ दिखाते हुए पुराने चोरों की कुंडली निकाली। जिससे पुलिस की राह आसान हो गई। दरअसल, पकड़े गए संदीप उर्फ कल्लू और अरविंद चार महीने पहले शिवालिकनगर से कार चोरी कर ले गए थे। उस दौरान औद्योगिक क्षेत्र प्रभारी प्रवीण रावत दोनों को कश्मीर से पकड़कर लाए थे। उनके मोबाइल नंबरों की बारीकी से पड़ताल करने लोकल कनेक्शन के तौर पर सतीश चौधरी निवासी आसफनगर मंगलौर का नाम सामने आया।

पुलिस टीम में ये रहे शामिल

पुलिस टीम में ज्वालापुर कोतवाली प्रभारी चंद्र चंद्राकर नैथानी, रानीपुर कोतवाली प्रभारी कुंदन सिंह राणा, सीआइयू प्रभारी रणजीत तोमर, चौकी प्रभारी औद्योगिक क्षेत्र प्रवीण रावत, रेल चौकी प्रभारी खेमेंद्र गंगवार, हैड कांस्टेबल सुंदर, सिपाही प्रेम, तुलसी, संजय रावत, सतेंद्र यादव, विवेक यादव, वसीम, उमेश, हरवीर मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें:- Dehradun Crime News: गबन के आरोपित को उत्‍तराखंड एसटीएफ ने आठ साल बाद गिरफ्तार

 

Edited By: Sunil Negi