जागरण संवाददाता, देहरादून। Women Under 19 ODI Trophy: क्रिकेट एसोसिएशन आफ उत्तराखंड (सीएयू) की अंडर-19 महिला टीम ने वूमेंस अंडर-19 वनडे ट्राफी के फाइनल मैच में मध्यप्रदेश को आठ विकेट से करारी शिकस्त देकर इतिहास रच दिया है। अंडर-19 महिला टीम ने उत्तराखंड को पहली बीसीसीआइ ट्राफी दिलाई है। खिताब जीतने की खुशी में उत्तराखंड के खिलाड़ि‍यों व सपोर्ट स्टाफ ने जयपुर स्टेडियम में ही केक काटकर खुशी मनाई। वहीं, देहरादून में सीएयू के पदाधिकारियों ने भी केक काटा।

जयपुर के सवाई मान सिंह स्टेडियम में सोमवार को वूमेंस अंडर-19 वनडे ट्राफी का खिताबी मुकाबला खेला गया। उत्तराखंड ने टास जीतकर पहले बल्लेबाजी करने के लिए मध्यप्रदेश को आमंत्रित किया। पहले खेलने उतरी मध्यप्रदेश को उत्तराखंड की साक्षी ने कल्याणी जाधव (24) व नैनी राजपूत (12) के रूप में शुरुआती झटके दिए। इसके बाद उत्तराखंड की गेंदबाज पूजा राज, निशा मिश्रा व राघवी मध्यप्रदेश पर हावी हो गई। 48.4 ओवर में मध्यप्रदेश की टीम कुल 102 रन के स्कोर पर ढेर हो गई। टीम के लिए सौम्या तिवारी ने (18) व संस्कृति गुप्ता ने (11) रन बनाए। मध्यप्रदेश के सात खिलाड़ी दहाई का आंकड़ा तक नहीं छू सके। इनमें से चार खिलाड़ी खाता नहीं खोल सकीं। उत्तराखंड के लिए पूजा राज ने तीन, निशा, साक्षी, राघवी ने दो-दो और मिनाक्षी ने एक विकेट चटकाया। 103 रन के आसान लक्ष्य का पीछा करने उतरी उत्तराखंड की टीम को चौथे ओवर में शगुन (5) व नौवें ओवर में राघवी (0) के रूप में शुरुआती झटके लगे। इसके बाद नीलम भारद्वाज की (नाबाद 56) अद्र्धशतकीय पारी के दम पर उत्तराखंड ने 34 ओवर में ही 103 रन बनाकर मुकाबले को आठ विकेट से जीत लिया। टीम के लिए सलामी बल्लेबाज ज्योति गिरी ने 102 गेंदों में नाबाद (26) रन की पारी खेली।

मान्यता के बाद से उत्तराखंड के सफर पर नजर

क्रिकेट एसोसिएशन आफ उत्तराखंड को 13 अगस्त 2019 को बीसीसीआइ से प्रदेश में क्रिकेट संचालन की मान्यता मिली। मान्यता मिलने के बाद यह पहली बार है, जब उत्तराखंड की टीम ने बीसीसीआइ के घरेलू सत्र का खिताब अपने नाम किया है। इससे पहले 2019 में उत्तराखंड पुरुष अंडर-19 टीम ने सेमीफाइनल में प्रवेश किया था, लेकिन सेमीफाइनल में गुजरात से हार का सामना करना पड़ा था। वर्ष 2020 में विजय हजारे ट्राफी में उत्तराखंड पुरुष सीनियर टीम ने क्वालीफाई किया था, लेकिन क्वार्टर फाइनल मुकाबले में दिल्ली से हार का सामना करना पड़ा था। अब 2021 में उत्तराखंड महिला अंडर-19 टीम ने वूमेंस अंडर-19 वनडे ट्राफी का खिताब अपने नाम किया है। उत्तराखंड की युवा टीम के लिए यह एक बड़ी उपलब्धि है।

बीसीसीआइ ने दिया शानदार प्रदर्शन का इनाम

वूमेंस अंडर-19 वनडे ट्राफी विजेता उत्तराखंड टीम के छह खिलाड़ि‍यों को बीसीसीआइ ने शानदार प्रदर्शन करने का इनाम दिया है। सीएयू सचिव महिम वर्मा ने बताया कि टीम की छह खिलाड़ि‍यों को बीसीसीआइ ने अंडर-19 चैलेंजर्स कप की टीमों में शामिल किया है। इनमें साक्षी, पूजा राज, राघवी, नीलम भारद्वाज, मिनाक्षी व नंदनी कश्यप शामिल है। इनमें से नीलम भारद्वाज को चैलेंजर्स कप में किसी एक टीम की कमान सौंपी जाएगी।

महिम वर्मा (सचिव सीएयू) का कहना है कि मान्यता से पहले प्रदेश में महिला क्रिकेट नहीं होता था, हमने महिला क्रिकेट को बढ़ावा देने पर विशेष ध्यान दिया। हमने महिला चैलेंजर्स ट्राफी कराई। कर्नाटक में कैंप लगाया, जिससे महिला खिलाड़ि‍यों में उमंग भरी। हमारे बीच के ही कुछ सदस्यों ने महिला क्रिकेट पर विशेष ध्यान देने की आलोचना की। आज इन खिलाड़ि‍यों ने ट्राफी जीतकर सभी आलोचनाओं पर विराम लगा दिया है।

जोत सिंह गुनसोला (अध्यक्ष सीएयू) का कहना है कि महिला अंडर-19 टीम ने खिताब जीतकर प्रदेश का मान बढ़ाया है। सीएयू हर वर्ग के खिलाडि‍यों को बढ़ावा देने के लिए हर संभव प्रयास को कटिबद्ध है। अभी हमें बीसीसीआइ की पहली ट्राफी मिली है। यही विजयी क्रम आगे भी जारी रहेगा।

यह भी पढ़ें:- Under-19 ODI tournament: पूजा के पंजे में फंसा आंध्र प्रदेश, उत्तराखंड ने फाइनल में पहुंच रचा इतिहास

Edited By: Sunil Negi