जागरण संवाददाता, देहरादून। Uttarakhand Vidhan Sabha Election 2022 उत्तराखंड सरकार के खिलाफ धरना-प्रदर्शन में सबसे आगे रहने वाले युवा कांग्रेस की भी टिकट आवंटन में अनदेखी की गई। प्रदेशभर से कम से कम 11 टिकट युवा कांग्रेस ने मांगे थे, लेकिन युकां (Uttarakhand Youth Congress)के हिस्से में केवल ज्वालापुर आरक्षित सीट से रवि बहादुर व ऋषिकेश से जयंत रमोला को टिकट दिया गया है। युवा कांग्रेस नेता नाराज बताए जा रहे हैं।

युवा कांग्रेस (Uttarakhand Yuva Congress) से टिकट के प्रबल दावेदारों में युकां के कार्यकारी अध्यक्ष सुमित्तर भुल्लर, गौरव वालिया, एडवोकेट संदीप चमोली, भूपेंद्र नेगी, विक्रम रावत, राकेश नेगी, डा. जसविंदर सिंह गोगी, संग्राम सिंह पुंडीर, विकास नेगी आदि दावेदार थे, लेकिन पार्टी ने उक्त नामों पर विचार नहीं किया।

युवा कांग्रेस के शीर्ष पदाधिकारियों को इस बात पर रोष व्यक्त किया कि युवा कांग्रेस के सक्रिय सदस्य मोहित उनियाल शर्मा को डोईवाला से टिकट दिया गया लेकिन दो दिन बाद ही उनका टिकट काटकर दूसरे प्रत्याशी मैदान में उतार दिया गया। यह युवा कांग्रेस के साथ सौतेला व्यवहार है। युकां नेताओं का कहना है कि पिछले करीब चार सालों के दौरान युकां ने सरकार के हर नीतियों को सड़क में उतरकर विरोध किया। मुख्यमंत्री आवास से लेकर सचिवालय घेराव में हर समय तत्परता दिखाई लेकिन क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करने के अवसर पर उनकी अनदेखी की गई।

युवा कांग्रेस ने अपनी दावेदारी चुनाव के दौरान ही नहीं की बल्कि युवा कांग्रेस के उत्तराखंड प्रभारी प्रदीप सूर्या के समक्ष भी दावेदारों की सूची दी गई थी, लेकिन उस पर भी कोई संज्ञान नहीं लिया गया। युवा कांग्रेस के नेताओं ने कहा कि डोईवाला से टिकट कटने के बाद युवा नेता मोहित उनियाल शर्मा राहुल गांधी से मिलने दिल्ली गए हुए हैं।

यह भी पढ़ें- Uttarakhand Election: टिकट बंटवारे में मातृशक्ति की अनदेखी से महिला कांग्रेस आहत, अध्यक्ष नहीं करेंगी पार्टी का प्रचार

Edited By: Raksha Panthri