जागरण संवाददाता, देहरादून। Uttarakhand Vidhan Sabha Election 2022 उत्तराखंड विधानसभा चुनाव 2022 के लिए देहरादून जिले की दस विधानसभा सीटों में से मात्र एक सीट महिला को देने और लालकुंआ से संध्या डालाकोटी और ज्वालापुर सीट से बरखा रानी का टिकट काटने पर महिला कांग्रेस आहत है। महिला कांग्रेस (Uttarakhand Congress) ने पार्टी हाईकमान के इस फैसले को मातृशक्ति के साथ सौतेला व्यवहार करार दिया है।

दून महानगर महिला कांग्रेस की अध्यक्ष कमलेश रमन का कहना है कि वह उन्हें प्रत्याशी नहीं बनाने का विरोध नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह के समक्ष कर चुकी हैं। वह पार्टी का प्रचार भी नहीं कर रही हैं। उनका ये भी कहना है कि  पार्टी के शीर्ष नेता जब तक उनसे संपर्क नहीं करेंगे, वह पार्टी के लिए प्रचार नहीं करेंगी। कमलेश रमन ने ये भी कहा कि दर्जनों महिला कार्यकर्त्ता पार्टी हाईकमान के निर्णय से आहत हैं।

उन्होंने कहा कि एक ओर पार्टी की राष्ट्रीय सचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने कहा था कि वह प्रत्येक राज्य में महिलाओं को 40 फीसद टिकट देंगी। लेकिन कांग्रेस ने प्रदेशभर में 70 में से मात्र पांच महिलाओं को प्रत्याशी बनाया है। उन्होंने इस बात पर अफसोस जताया कि लालकुंआ से संध्या डालाकोटी और ज्वालापुर आरक्षित सीट से बरखा रानी को पहले प्रत्याशी घोषित किया और दो दिन बाद ही उनके टिकट बदलकर पुरुष प्रत्याशी मैदान में उतार दिए गए।

उन्होंने कहा कि अकेले देहरादून महानगर सौ वार्डों में महिला कांग्रेस की कार्यकारिणी गठित है। उनमें वार्ड अध्यक्ष व कार्यकारिणी में पांच सौ महिलाएं शामिल हैं। इसके अलावा दो हजार से अधिक सक्रिय महिला सदस्य भी हैं। इन सबकी अनदेखी की गई। पार्टी हाईकमान को महिला प्रत्याशियों के बारे में गंभीरता दिखानी होगी।

यह भी पढ़ें- एक परिवार एक टिकट पर बोले देवेंद्र यादव, हरीश रावत की बेटी को योग्यता के आधार पर मिला मौका

Edited By: Raksha Panthri