राज्य ब्यूरो, देहरादून: Uttarakhand Election 2022 विधानसभा की 70 में से 59 सीटों के लिए भाजपा प्रत्याशियों की घोषणा होने के बाद अब केंद्रीय मंत्री एवं भाजपा के प्रदेश चुनाव प्रभारी प्रल्हाद जोशी मोर्चे पर जुट गए हैं। शनिवार को दिल्ली से देहरादून पहुंचने के बाद उन्होंने प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक समेत प्रांतीय पदाधिकारियों के साथ बैठक कर चुनाव अभियान की समीक्षा की। माना जा रहा कि इस दौरान उन्होंने विभिन्न सीटों पर उभरे असंतोष के सुरों को थामने के लिए उठाए गए कदमों का ब्योरा भी लिया।

चुनाव प्रभारी जोशी ने चुनाव प्रबंधन समिति के विभागों के पदाधिकारियों से फीडबैक लिया। मीडिया विभाग से भी उन्होंने विभिन्न जानकारियां लीं। बताया गया कि डालनवाला स्थित निवास पर उन्होंने भाजपा के प्रदेश महामंत्री संगठन अजेय और तीनों प्रदेश महामंत्रियों के साथ बैठक में प्रदेश के राजनीतिक परिदृश्य पर चर्चा के साथ ही चुनाव अभियान की समीक्षा की। उन्होंने चुनाव प्रबंधन की दृष्टि से आवश्यक निर्देश भी दिए। देर रात उन्होंने भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक के साथ मंत्रणा की। माना जा रहा कि इस दौरान उन्होंने विधानसभा की शेष रह गईं 11 सीटों पर प्रत्याशी चयन के संबंध में विमर्श किया।

यह भी पढ़ें- भाजपा संगठन का भरोसा, पूर्व सीएम की बेटी के साथ होगा न्याय; इस सीट से काटा गया है टिकट

छह प्रत्याशियों ने लिए सिंबल

भाजपा ने प्रदेश में जिन विधानसभा सीटों के लिए प्रत्याशी घोषित किए हैं, उन्हें सिंबल वितरित करना शुरू कर दिया है। शनिवार को प्रदेश कार्यालय से छह प्रत्याशियों ने सिंबल लिए। बताया गया कि कुमाऊं क्षेत्र के सिंबल रविवार को हल्द्वानी भेजे जा सकते हैं।

बाउंसर बने चर्चा का विषय

प्रदेश भाजपा कार्यालय में शनिवार को मौजूद रहे बाउंसर चर्चा के केंद्र में रहे। माना जा रहा कि विभिन्न सीटों पर असंतोष के उभरते सुरों और नाराज कार्यकत्र्ताओं के प्रदेश कार्यालय पहुंचने की संभावना के मद्देनजर इनकी तैनाती की गई है। यद्यपि, बाउंसरों का कहना था कि उन्हें तैनात नहीं किया गया है, वे तो पार्टी कार्यकत्र्ता हैं।

यह भी पढ़ें- इन्हें इंदिरा गांधी ने किया था कांग्रेस में शामिल, 1985 में चकराता सीट पर रचा इतिहास, अब बेटे बढ़ा रहे विरासत को आगे

Edited By: Sumit Kumar