राज्य ब्यूरो, देहरादून। Uttarakhand Assembly Winter Session 2020 कोरोना संकट की छाया में 21 दिसंबर से शुरू होने जा रहे विधानसभा के तीन दिवसीय शीतकालीन सत्र में उम्रदराज समेत सभी विधायक सदन में मौजूदगी चाहते हैं। दरअसल, विधानसभा ने सभी विधायकों से पूछा था कि क्या वे सत्र से वर्चुअली जुड़ना चाहते हैं। इस बारे में उन्हें मंगलवार तक अपनी राय से अवगत कराने को कहा गया था। विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल के अनुसार लगभग सभी विधायकों की राय सदन में प्रतिभाग करने के पक्ष में है। उन्होंने बताया कि सुरक्षित शारीरिक दूरी के मानकों का पालन करते हुए अब इसी हिसाब से विधायकों के लिए सदन में बैठने की व्यवस्था की जा रही है।

विधानसभा अध्यक्ष अग्रवाल ने मंगलवार को विधानसभा में सभामंडप का निरीक्षण करने के साथ ही सत्र की तैयारियों का जायजा लिया। बाद में पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि कोरोना के प्रभाव से बचने के मद्देनजर एसओपी का पूरी तरह से पालन किया जाएगा। सभी विधायकों, अधिकारियों व कर्मचारियों के लिए सैनिटाइजर, मास्क की व्यवस्था की जाएगी। सुरक्षित शारीरिक दूरी के मानकों का पालन किया जाएगा। 

उन्होंने बताया कि सदन में प्रत्येक विधायक अपनी बात रख सके, ऐसी व्यवस्था बनाई जा रही हैं। पिछले सत्र की भांति इस बार भी सभामंडप में 29 विधायकों के बैठने की व्यवस्था की गई है, जबकि 11 विधायक राज्यपाल, पत्रकार व दर्शक दीर्घाओं में बैठेंगे। शेष विधायकों के बैठने की व्यवस्था प्रकाश पंत भवन के कक्ष संख्या 107 में की गई है, जो सभामंडप का ही हिस्सा माना जाएगा। उन्होंने बताया कि सभामंडप, दीर्घाओं व कक्ष 107 तीनों ही जगह लॉबी बनाई जाएगी।

तय सीमा में कोरोना जांच जरूरी

विस अध्यक्ष ने बताया कि सभी विधायकों का रैपिड एंटीजन टेस्ट होगा। कोरोना जांच की निगेटिव रिपोर्ट वाले विधायक ही सदन में प्रवेश पा सकेंगे। उन्होंने कहा कि सत्र को सुरक्षित एवं सुचारू रूप से संचालित करने के लिए सभी का तय समय सीमा के भीतर कोरोना जांच कराना आवश्यक है। उन्होंने सभी मंत्री, विधायकों से अपील की कि वे स्वयं के साथ ही अन्य व्यक्तियों की सुरक्षा की दृष्टि से कोरोना जांच अवश्य कराएं।

अभी तक मिले 462 प्रश्न

विस अध्यक्ष अग्रवाल ने बताया कि सत्र के लिए अभी तक विधायकों की ओर से 462 प्रश्न विधानसभा को प्राप्त हो चुके हैं। उन्होंने यह भी जानकारी दी कि सत्र के पहले दिन दिवंगत हुए चार पूर्व विधायकों को श्रद्धांजलि दी जाएगी।

कार्यमंत्रणा समिति की बैठक 20 को

विधानसभा की कार्यमंत्रणा समिति की बैठक 20 दिसंबर को दोपहर बाद साढ़े तीन बजे विधानसभा अध्यक्ष के सभाकक्ष में होगी। विस के प्रभारी सचिव मुकेश सिंघल ने यह जानकारी दी। उन्होंने यह भी बताया कि इसी दिन कार्यमंत्रणा से पहले तीन बजे से विधानमंडल दल के नेताओं की बैठक विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल की अध्यक्षता में होगी।

बुधवार परखेंगे सुरक्षा व्यवस्था

विस अध्यक्ष अग्रवाल ने शीतकालीन सत्र की व्यवस्थाओं और सुरक्षा से संबंधित विषयों को लेकर विधानसभा में बुधवार को उच्चाधिकारियों की बैठक बुलाई है। यह बैठक दोपहर बाद तीन बजे से होगी।

यह भी पढ़ें: Uttarakhand Assembly Winter Session 2020: विधायकों से पूछा, क्या वर्चुअली जुड़ना चाहेंगे सत्र से

Edited By: Raksha Panthari