राज्य ब्यूरो, देहरादून। केंद्रीय सड़क परिवहन व राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि कैलास मानसरोवर मार्ग जल्द पूरा होगा। इस मार्ग का 85 फीसद काम पूरा हो चुका है। आगामी छह माह में यह सड़क पूरी हो जाएगी। उन्होंने कहा कि चार धाम परियोजना हमारी आस्था, अस्मिता और स्वाभिमान का प्रोजेक्ट है। हमें पर्यावरण और विकास को साथ लेकर चलना है। एक पेड़ के बदले 10 पेड़ लगाए जाएंगे।

उत्तराखंड में वर्चुअल माध्यम से आयोजित लोकार्पण व शिलान्यास कार्यक्रम के मौके पर उन्होंने कहा कि कैलास-मानसरोवर मार्ग बनने पर वह खुद इससे मानसरोवर के दर्शन के लिए जाएंगे। यह प्रोजेक्ट उनका दूसरा सपना है। चार धाम परियोजना को बड़ी उपलब्धि बताते हुए कहा कि इससे वर्षभर चार धाम यात्रा संचालित होगी। उनका यह पहला सपना पूरा हो रहा है। रुद्रप्रयाग में टनल का निर्माण होने से केदारनाथ व बदरीनाथ जाने वाले श्रद्धालुओं को सुविधा मिलेगी। पौड़ी जिले में राष्ट्रीय राजमार्ग 119 से सड़क की गुणवत्ता सुधरेगी और चार धाम यात्रा के लिए वैकल्पिक मार्ग विकसित होगा।

दून व हरिद्वार से दिल्ली का सफर दो घंटे का होगा

केंद्रीय मंत्री गडकरी ने कहा कि दिल्ली से देहरादून व हरिद्वार का सफर आने वाले समय में केवल दो घंटे का होगा। दिल्ली-देहरादून एक्सप्रेस वे के तहत एक कनेक्टिविटी दिल्ली-हरिद्वार के लिए भी दी जाएगी। सहारनपुर बाइपास से 2000 करोड़ की लागत से 49 किमी का छह लेन का नया मार्ग बनाया जाएगा। जनवरी, 2024 से पहले इसका उद्घाटन होगा। दिल्ली-देहरादून कारिडोर की कुल लंबाई 210 किमी और कुल लागत 13 हजार करोड़ रुपये होगी। पहले चरण में यह छह लेन का होगा। नौ पैकेज में यह काम होगा। इसमें से पांच पैकेज का टेंडर हो गया है। शेष चार पैकेज का टेंडर आगामी माह अप्रैल तक होगा।

कई प्रोजेक्ट का तोहफा

नितिन गडकरी ने बताया कि मुख्यमंत्री के अनुरोध पर यमुनाघाटी क्षेत्र को चार धाम परियोजना से जोड़ने के लिए डीपीआर बनाई जा रही है। सांसद अजय टम्टा के अनुरोध पर जौलजीवी-मड़कोट-मुनस्यारी-थापा से मिलम की सड़क खोलने के लिए बीआरओ को कहा गया है। सतपाल महाराज के अनुरोध पर धनोरीपुल, मिरापुल की मरम्मत व सल्ट महादेव से थलीसैंण मार्ग की मरम्मत का काम हो चुका है। मदन कौशिक के अनुरोध पर पावनधाम चौक से दुधाधारी चौक तक एलीवेटेड रोड व भूपतवाला में बन रहे अंडरपास में पिलर निर्माण किया जाएगा। डा धन सिंह रावत के अनुरोध पर श्रीनगर में एलीवेटेड रोड व मैरीन ड्राइव की डीपीआर बनाई गई है।

निर्माण कार्य जल्द

उन्होंने बताया कि डाटकाली से आइएसबीटी तक सड़क की मरम्मत, बागेश्वर से बिलना तक सड़क सुरक्षा, छारा में सड़क सुरक्षा कार्य व अल्मोड़ा में बनारघाट में सड़क सुरक्षा कार्य जल्द अवार्ड किए जाएंगे। इसीतरह पांडुवाखाल से कर्णप्रयाग तक सड़क मरम्मत, चोपता से कुंडा तक सड़क मरम्मत, चमोली से चोपता तक व रामनगर से बुआखाल मोटरमार्ग पर दो पुलों के निर्माण, चंपावत-लोहाघाट-पिथौरागढ़ सड़क मरम्मत कार्य, काकड़ीघाट से कुड़ाब तक सड़क चौड़ीकरण कार्य जल्द शुरू किए जाएंगे।

मसूरी को वैकल्पिक मार्ग का प्लान

एनएचआइ चेयरमैन एसएस संधु ने बताया कि पांवटा-देहरादून चार लेन स्वीकृत हो चुकी है। यहां से मसूरी के लिए वैकल्पिक मार्ग का प्लान भी तैयार किया जा रहा है। हरिद्वार रिंग रोड स्वीकृत हो चुकी है। खटीमा बाईपास भी प्लान किया गया है। रामपुर में बाईपास से नैनीताल के लिए समय की बचत होगी। मुरादाबाद बाईपास से कार्बेट के लिए समय बचेगा। इस मौके पर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत केंद्रीय मंत्री का आभार जताते हुए कहा कि सड़कों के विस्तार से राज्य की अर्थव्यवस्था को लाभ होगा। लाखों व्यक्तियों को रोजगार के अवसर मिलेंगे।

यह भी पढ़ें-केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने 250 किमी एनएच का किया लोकार्पण व शिलान्यास

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021